बारिश से उत्तराखंड को बड़ी राहत, जंगलों की आग बुझी

0

बारिशदेहरादून। उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग ने काफी तबाही मचाई है। इस बीच मौसम की महरबानी से आग पर काबू पा लिया गया है। मंगलवार को सुबह से ही घिरे बादल ने देर रत बरस पड़ा। गोपेश्वर में तेज हवा के बाद बारिश शुरू हुई, जिससे जंगलों की आग लगभग पूरी तरह से बुझ गई है। बारिश होने से अधिकारियों और वन कर्मियों ने भी राहत की सांस ली है।

बारिश से बद्रीनाथ हाईवे पर गिरे पत्थर

पीपलकोटी और जोशीमठ क्षेत्र तेज बारिश हुई। बारिश होने से बद्रीनाथ हाईवे पर चमोली चाड़े के पास आग से जमीन छोड़ चुके पत्थर हाईवे पर आ गए। जिससे वाहनों की आवाजाही खतरनाक हो गई है। बारिश होने से लोगों को गर्मी से भी राहत मिली है। पोखरी और घाट क्षेत्रों में भी झमाझम बारिश हुई।

सोमवार को दो आग की घटनाएं

कलक्ट्रेट में बने आपदा नियंत्रण कक्ष में सोमवार को दो जगहों पर अग्नि लगने की सूचनाएं आई। पहली सूचना नांगल कुलहान के खेतों में लगनी की आई। जिस पर काफी मशक्कत के बाद अग्नि पर काबू पाया गया। इसके अलावा रायजपुर चौक से मालदेवता की ओर सड़क के नीचे झाडिय़ों में अग्नि लगने की सूचना मिली। वहां पर फायर ब्रिगेड और वन विभाग को तुरंत भेजा गया, ताकि आग विकराल रूप न ले। दोपहर बाद तक अग्नि बुझाने का काम चल रहा था।

सैटेलाइट से होगा अग्नि का आंकलन

प्रशासन ने देहरादून में अग्नि से हुए नुकसान और आसमान में छाई धुंध को लेकर सैटेलाइट सर्वे शुरू कराया है। इसके लिए आईआरएस से मदद ली जा रही है। उनसे डाटा मांगा गया है, ताकि आसमान में फैली धुंध का आंकलन किया जा सके और प्रभावित इलाकों में बचाव के काम किए जा सकें।

loading...
शेयर करें