बिजली बचत के लिए उत्तराखंड में मिलेंगे कम वाट वाले पंखे

0

बिजलीदेहरादून। भारत में चल रहे लगातार बिजली बचाओ आंदोलन में पहले बाज़ार में एलईडी बल्ब आया और अब प्रदेश में बिजली की खपत कम हो इसलिए इस ओर बड़ा कदम उठाया जा रहा है।

बिजली बचत योजना के तहत एलईडी बल्ब के बाद अब सरकार ने बाजार से कम दाम पर कम ऊर्जा लेने वाले पंखे और किसानों के लिए पंप उपलब्ध कराने की बात कही है। केंद्रीय विद्युत मंत्रालय ने विजयवाड़ा (आंध्र प्रदेश) से इसकी शुरुआत कर दी है। साथ ही उत्तराखंड में भी यह योजना जल्द ही लागू होने की उम्मीद है।

बिजली बचत के लिए उठाए बड़े कदम

ईईएसएल प्रवक्ता ने कहा कि इस योजना को विद्युत मंत्रालय के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) द्वारा लागू किया जाना है। उन्होंने कहा कि करीब 50 वाट के सीलिंग पंखों के इस्तेमाल से उपभोक्ताओं के बिजली बिलों में हर साल 700-730 रुपये की कमी का अनुमान लगाया जा रहा है।

वहीँ इनकी कीमत भी काफी कम रखी जाएगी। इससे प्रत्येक उपभोक्ता को दो कम ऊर्जा वाले पंखे 60 रुपये प्रतिमाह ईएमआई के आधार पर दिए जाएंगे। उपभोक्ता 1250 रुपए की एकमुश्त राशि का भुगतान कर भी पंखा खरीद सकते हैं।

मोबाइल फोन से किसान चलाएंगे खेतों में पानी 

इसी के तहत किसान भी कम बिजली खपत वाले कृषि पंप सेट की खरीददारी कर सकते हैं। इन पंपों में एक स्मार्ट कंट्रोल पैनल और एक सिमकार्ड लगा होता है जिससे किसान अपने मोबाइल फोन से ही कहीं से भी इन पंपों को नियंत्रित कर सकते हैं। जिससे समय की भी बचत होगी।

ऐसा भी माना जा रहा है कि केंद्र सरकार उत्तराखंड की जनता को रिझाने के लिए ऐसे कदम उठा रही है। जिससे आगे होने वाले चुनाव में बीजेपी को फ़ायदा मिल सके।

loading...
शेयर करें