बिहार में जंगलराज, अब पूर्व मुख्‍यमंत्री पर हमला

0

गया| बिहार में जंगलराज के आरोप राजनीतिक दल लगाते रहते हैं। वजह यही है कि यहां अपराधियों और उनकी हरकतों पर नियंत्रण नहीं लग पा रहा है। अब राज्‍य के गया जिले के नक्सल प्रभावित डुमरिया प्रखंड में अज्ञात बदमाशों द्वारा लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के नेता सुदेश पासवान एवं उनके भाई सुनील पासवान की गोली मारकर हत्या करने के विरोध में लोग गुरुवार को सड़कों पर उतर आए और जमकर हंगामा किया। आक्रोशित भीड़ ने पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के काफिले पर भी पथराव किया। पुलिस के अनुसार, मांझी सुबह मृतक के परिजनों से मिलने जा रहे थे। उसी दौरान आक्रोशित भीड़ ने उनके काफिले पर पथराव किया। मांझी को हालांकि कोई चोट नहीं आई। इधर, हत्या से गुस्साए लोगों ने दो वाहनों को भी फूंक दिया। इस प्रदर्शन के पीछे बिहार में जंगलराज की लगातार बढ़ती वारदाते हैं, बीते दिनों भी ऐसी एक वारदात हुई थी।

बिहार में जंगलराज का आरोप लगाते हैं विरोधी दल

बिहार में जंगलराजआक्रोशित ग्रामीणों ने डुमरिया थाना के समीप दोनों शव सड़क पर रखकर प्रदर्शन किया। वे हत्यारों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। सूचना मिलने पर जिलाधिकारी कुमार रवि और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) गरिमा मलिक वहां पहुंचे और परिजनों को समझाने की कोशिश की। गौरतलब है कि लगातार अपराधिक वारदातों के कारण बिहार में जंगलराज का आरोप कई पार्टियां लगाती रहती हैं। इस मामले में भी ऐसा ही कुछ हुआ।

उल्लेखनीय है कि काचर पंचायत की निवर्तमान मुखिया एवं मुखिया प्रत्याशी माया कुमारी के पति एवं लोजपा नेता सुदेश पासवान दुआठ गांव में बुधवार को 30 मई को होने वाले पंचायत चुनाव के मद्देनजर पत्नी के लिए एक जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। उसी दौरान दो मोटरसाइकिल पर आए पांच-छह बदमाशों ने सुदेश पासवान और उनके चचेरे भाई सुनील पासवान को गोली मार दी। दोनों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। गया की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गरिमा मलिक ने गुरुवार को बताया कि दोनों शवों को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है। क्षेत्र में तनाव है, लेकिन स्थिति नियंत्रण में है। क्षेत्र में अतिरिक्त पुलिसबल की तैनाती कर दी गई है। सुदेश पासवान लोजपा के डुमरिया प्रखंड इकाई के अध्यक्ष थे।

loading...
शेयर करें