बीजेपी का आरोप, विधायक खरीद कर सरकार बचाई रावत ने

0

बीजेपी के विधायकदेहरादून। उत्तराखंड में शक्ति परीक्षण हो गया है। जिसमें हरीश रावत ने बहुमत साबित किया था। जिसके बाद आज सुप्रीम कोर्ट रावत को प्रदेश में सरकार बनाने को कह सकती है। इस बीच बीजेपी के विधायक हरीश रावत पर आरोप लगा रहे हैं कि उन्होंने विधायकों को पैसे देकर बहुमत हासिल किया है।

बीजेपी के विधायक ने सीबीआई जांच की कर रहे हैं मांग

बीजेपी के विधायक उत्तराखंड विधानसभा में बहुमत साबित नहीं कर सके। जिसके बाद अब उन्होंने हरीश रावत पर आरोप लगाया है कि उन्होंने पैसे से विधायकों को ख़रीदा है। इस सिलसिले में बीजेपी के विधायक सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं।

उत्तराखंड विधानसभा कांग्रेस ने बीजेपी का आत्मविश्वास तोड़ा

बीजेपी की हर कोशिश आज उत्तराखंड विधानसभा में धरी रह गई। विधानसभा से बाहर निकलते हुए बीजेपी विधायक कुछ भी बोलने से बचते नज़र आए। साथ ही बीजेपी के विधायकों का आत्मविश्वास टूटता दिखा। फ्लोर टेस्ट से एक दिन पहले भाजपा और कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंक दी थी।

कुमाऊं से कांग्रेस की एक महिला विधायक के भाजपा के पाले में आ जाने के बाद सतपाल महाराज पर दबाव बढ़ गया था। महाराज ने भगतदा को कहा था कि पहले अपनी चेली को लेकर आओ, तब वह अपने समर्थकों को लाएंगे।

भाजपा के विधायक दे सकते हैं सामूहिक इस्तीफा

बीजेपी उत्तराखंड में भी उत्तर प्रदेश की कहानी दोहरा सकती है। यह भी हो सकता है कि विधानसभा भंग करने का दबाव बनाने के लिए भाजपा के सभी विधायक सामूहिक रूप से इस्तीफा सौंप दें।

उत्तर प्रदेश में सौ विधायकों ने दिया था इस्तीफा

हरीश रावत को रोकने के लिए भाजपा क्या मैकेनिज्म तैयार कर रही है, इसकी किसी को खबर नहीं है, लेकिन हरीश को रोकने के लिए सारे तौर तरीके अपनाएं जाएंगे। 2001 में यूपी में समाजवादी पार्टी के सौ विधायकों ने सदन से एक साथ इस्तीफा दिया था, कांग्रेस को फिलहाल सत्ता में आने रोकने के लिए भाजपा यह हथकंडा भी अपना सकती है, ताकि विधानसभा भंग करना मजबूरी हो जाए। हालांकि ऐसा होने पर विधानसभा भंग होने की कोई बाध्यता भी नहीं है।

loading...
शेयर करें