IPL
IPL

बीजेपी नेताओं की सियासत मेरे कारण चल रही : हरीश रावत

देहरादून। बीजेपी नेताओं और केंद्र पर चुटीला हमला बोलने का सीएम हरीश रावत भी कोई मौका नहीं छोड़ते। मौका था सीएम के आवास पर आयोजित देवडोलियों के महत्व पर हो रही संगोष्ठी का। सीएम हरीश रावत ने यहां भी बीजेपी नेताओं को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी। रावत ने नारी निकेतन को लेकर बीजेपी नेताओं और राष्ट्रीय महिला आयोग को आड़े हाथों लिया।

ये भी पढ़ें – होमगार्ड जवानों पर हरीश रावत सरकार मेहरबान

बीजेपी नेताओं 1

बीजेपी नेताओं के साथ ही केंद्र पर भी निशाना

सीएम हरीश रावत ने चुटीले अंदाज में कहा कि प्रदेश के बीजेपी नेताओं को मेरा शुक्रगुजार होना चाहिए क्योंकि उनकी सियासत ही मेरे नाम पर चल रही है। रावत ने मजाकिया अंदाज में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट पर निशाना साधते हुए कहा कि भट्ट को मुझे शुक्रिया कहना चाहिए क्योंकि उनकी राजनीति मेरे नाम पर चल रही है। दरअसल, सीएम ने ये बात विपक्ष के उन बयानों पर कही जिसमें कहा गया था कि रावत सरकार में मंत्री पद और संगठन में खींचतान की वजह से हाईकमान को कोऑर्डिनेशन कमेटी बनानी पड़ी।

हरीश रावत ने पार्टी का पक्ष रखते हुए कहा कि कांग्रेस शासित राज्यों में पहले भी इस तरह की कमेटियां बनाई गई हैं और ये कोई नया फैसला नहीं है। हां, उत्तराखण्ड में इसके गठन में थोडा देर जरूर हुई है, लेकिन इससे हाईकमान के साथ सरकार और संगठन का बेहतर समन्वय होगा। सीएम ने ये भी कहा कि कोर्डिनेशन कमेटी कांग्रेस में बनी है लेकिन ना जाने क्यों बीजेपी इतनी ज्यादा उत्साहित हो रही है। हरीश रावत ने अपने अनोखे अंदाज में केंद्र सरकार और मोदी पर चुटकी लेते हुए ये भी कहा कि मेरा 56 तो नहीं लेकिन 36 इंच का सीना जरूर है जो सब कुछ समा लेता है।

ये भी पढ़ें – निर्मल गंगा के लिए दस हजार करोड़ की जरूरतः हरीश रावत

बीजेपी नेताओं 2

देहरादून के नारी निकेतन और संवासिनी मामले पर सीएम ने कहा कि केंद्रीय महिला आयोग की टीम ने बिना सरकार से जानकारी लिए एकतरफा फतवा जारी कर दिया। रावत ने जोर देते हुए कहा कि अगर आयोग चाहे तो विभिन्न क्षेत्रों के लोगों के साथ नारी निकेतन का कभी भी जायजा ले सकता है। देश और प्रदेश में गहरा रहे आतंकी साये पर सीएम ने बेबाकी से कहा कि आतंकवाद देश ही नहीं बल्कि विश्वव्यापी समस्या है। उन्होंने हरिद्वार अर्द्धकुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं और यात्रियों से अपील की है कि डरने की जरूरत बिल्कुल भी नहीं है। क्योंकि तीर्थनगरी में पुलिस, प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता और फुलप्रूफ इंतजाम किये हैं।  इसके साथ ही हरीश रावत का ये भी कहना है कि राज्य सरकार लोक संस्कृति के संरक्षण और संवर्द्धन को लेकर पूरी तरह गंभीर है। उन्होंने संस्कृति विभाग को देवडोलियों का एक सालाना कैलेंडर बनाने को भी कहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button