बीस फीट गहरे पानी से निकली जीप, मिली दादा, और पोता-पोती की लाश

0

भोपाल: मध्यप्रदेश के सीहोर जिले में बुधवार शाम पपनास नदी से 20 फीट अंदर धंसी एक जीप को निकाला गया। यह जीप मंगलवार को नदी में बह गई थी। इस जीप में दादा और उनके दो नन्हें पोता-पोती सवार थे। जिनकी पानी में डूबने से मौत हो गई।

पुलिस के मुताबिक, मंगलवार रात को आष्टा क्षेत्र की पपनास नदी में जीप बह गई थी।  प्रशासन ने रात से ही रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर बहे लोगों की तलाश शुरू कर दी थी। काफी खोजबीन के बाद बुधवार दोपहर को नदी में जीप को आधा किलोमीटर दूर पाया गया। जीप नदी में करीब 20 फीट नीचे तक धंस गई थी। रेस्क्यू टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद शाम को जैसे-तैसे जीप को पानी से बाहर निकाला। उसमें 45 साल के मनोहरलाल तथा उनकी पोती रिशिता (12) और पोते ऋषभ (10) के शव भी मिले हैं।

20 फीट अंदर धंसी जीप का ऐसे पता चला

तलाशी अभियान के दौरान बुधवार सुबह नदी में कुंडनुमा 20 फीट गहरे गड्ढे में स्थानीय निवासी विनोद ने लकड़ी से इधर-उधर घुमाया। इस दौरान लकड़ी वाहन से टकराई। बाद में गोता लगाकर देखा तो वाहन उसमें फंसा था। इसके बाद 5.30 घंटे की मशक्कत के बाद दोपहर 3.15 बजे वाहन सहित दादा और उसके एक पोते और पोती के तीनों शव निकाले गये।

कैसे बह गयी थी जीप?

दरअसल, मंगलवार को मुगली के रहने वाले सजन सिंह ठाकुर पुत्र जगन्नाथ सिंह अपने छोटे भाई मनोहर सिंह तथा उनके पोते ऋषभ और पोती रिषिका ठाकुर के साथ अपनी नई बोलेरो में सवार होकर आष्टा पहुंचे थे। वह शाम 7.30 बजे वापस अपने गांव मुगली जा रहे थे। तभी आष्टा से गांव का बंटी मालवीय भी बोलेरो जीप में सवार हो गया। रपटे पर दो फीट पानी तेज रफ्तार से बह रहा था। जिसके चलते जीप नदी में बह गई थी। इस दौरान सजन सिंह को नदी के पास खड़े लोगों ने निकाल लिया और बंटी तैरकर दूसरे किनारे पर पहुंचने से बच गया था। लेकिन अन्य तीन लोग पानी में ही जीप सहित बह गये थे।

loading...
शेयर करें