आतंकी बुरहान के मारे जाने के बाद कश्मीर के हालात हुए बहुत खराब

0

कश्मीर। जम्मू एवं कश्मीर में सुरक्षा बलों की गोली से हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद कश्मीर के हालात काफी बुरे हो गए हैं। हर तरफ विरोध-प्रदर्शन किया जा रहा है। विरोध प्रदर्शनकारियों और सुरक्षबलों की झड़प में चार प्रदर्शनकारियों की मौत भी हो गई हैं।बुरहान वानी

सुरक्षाकर्मियों सहित 70 अन्य घायल हो गए। प्रदर्शन के दौरान जिन लोगों की मौत हुई है, उनकी पहचान अनंतनाग के सिलीगाम के एजाज अहमद ठोकरू, अनंतनाग के यावर मंजूर कोंडरू, कुलगाम के खुर्शीद अहमद और कुलगाम के जुबैर अहमद के रूप में की गई है।

बुरहान वानी के मारे जाने के बाद अमरनाथ यात्रा हुई स्थगित

कश्मीर में बुरहान वानी के मारे जाने के बाद बिगड़े हालात को देखते हुए प्रशासन ने बाबा अमरनाथ यात्रा को रोक  दिया है। दो जुलाई से शुरू हुई बाबा अमरनाथ की यात्रा में यह पहला मौका है जब यात्रा को स्थगित किया गया है। यात्रा स्थगित होने के कारण यात्री निवास में करीब दो हजार से अधिक श्रद्धालु डेरा डाले हुए हैं। वहीं अन्य श्रद्धालुओं का देश भर से आने का सिलसिला लगातार जारी है।

जम्मू एंड कश्मीर प्रशासन ने श्रद्धालुओं की सुरक्षा को देखते हुए सीधे बालटाल व पहलगाम जाने वाले वाहनों को जम्मू से आगे जाने की अनुमति नहीं दे रहे हैं। जम्मू बेस कैंप से अमरनाथ यात्रा रोके जाने पर श्रद्धालुओं ने कहा कि वे मौजूदा हालात को अच्छी तरह समझते हैं और प्रशासन का पूरा साथ देने के लिए तैयार हैं।

हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद पूरी कश्मीर घाटी में विरोध प्रदर्शन हुए। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर शुक्रवार देर शाम को वाहनों पर हो रहे पथराव को देखते हुए  बनिहाल से आगे किसी भी वाहन को नहीं जाने दिया जा रहा है।

वानी को उसके दो सहयोगियों के साथ शुक्रवार को अनंतनाग जिले के बामडोरा (कोकरनाग) गांव में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मार गिराया गया था। वानी को शनिवार को पुलवामा में उसके गांव त्राल में दफनाया गया।

 

loading...
शेयर करें