इस्लाम के खिलाफ उतरा एक और देश, मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ उठाया ये सख्त कदम

0

वियना। ऑस्ट्रिया अदालतों, स्कूलों और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर बुर्का पहनने पर पाबंदी लगाने के लिए सहमत हो गया है। जिसे लेकर इस प्रस्तावित के खिलाफ करीब 1,000 लोगों ने यहां प्रदर्शन किया। समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, शनिवार को प्रदर्शनकारियों ने प्रस्तावित प्रतिबंध की निंदा करते हुए मध्य वियना से होते हुए विदेश मंत्रालय की इमारत के पास स्थित चौराहे तक मार्च किया। प्रदर्शन का आयोजन कई ऑस्ट्रियाई मुस्लिम संगठनों ने किया था और इसमें शामिल लोगों में ज्यादातर महिलाएं थीं।

यह भी पढ़ें : सिर्फ हमारी सरकार महिलाओं के बारे में सोचती है, चुनाव के बाद ‘ट्रिपल तलाक’ पर लेंगे बड़ा फैसला

बुर्का पहनने पर पाबंदी

बुर्का पहनने पर पाबंदी इससे पहले कई देशों ने लगाई

आयोजनकर्ताओं में से एक ने कहा कि वे इस्लामिक नकाब पर प्रतिबंध के खिलाफ हैं, क्योंकि वे समाज से मुस्लिमों को अलग करने के खिलाफ हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी महिला को सार्वजनिक तौर पर इसलिए अलग-थलग नहीं कर देना चाहिए, क्योंकि वह हिजाब पहनती है। सोशल डेमोकेट्रिक और ऑस्ट्रियाई पीपल्स पार्टियों के गठबंधन वाली ऑस्ट्रियाई सरकार ने इस सप्ताह एक दस्तावेज जारी कर सार्वजनिक स्थानों पर पूरे चेहरे का नकाब पहनने पर प्रतिबंध लगाने का इरादा जाहिर किया था।

यह भी पढ़ें : ये बड़ा नेता कभी था पीएम का ‘कट्टर समर्थक’, आज मोदी को कहा – चोरों का प्रधानमंत्री

सरकार अगले 18 महीनों के भीतर या वर्तमान विधायी सत्र समाप्त होने से पहले संसद से इन कदमों के लिए मंजूरी हासिल करना चाहती है। ऑस्ट्रिया में करीब 60,000 मुस्लिम आबादी है। फ्रांस की संसद ने करीब 6 साल पहले इस कानून पास कर सार्वजनिक स्थलों पर नकाब और बुर्का पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया था। ऐसा करने वाला फ्रांस यूरोपियन यूनियन का पहला देश था। इसके बाद बेल्जियम और स्विट्जरलैंड ने भी इसी तर्ज पर अपने यहां नकाब और बुर्के पर प्रतिबंध लगाया।

loading...
शेयर करें