बेटी बचाओ और गंगा सफाई का आह्वान कर गए सीएम

कानपुर। बेटी बचाओ और गंगा सफाई का आह्वान लेकर आशा यात्रा कार्यक्रम में पहुंचे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि इस देश में ऐसी यात्राएं आसान नहीं होती हैं। इस यात्रा की सफलता की वह कामना करते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश और समाज को समझने के लिए यात्रा करना आवश्यक है। बड़े उद्देश्य को लेकर की गयी बड़ी यात्रा न केवल देशवासियों को उस उद्देश्य से जोड़ती है, अपितु उससे उत्पन्न समझदारी और सामंजस्य की भावना का प्रसार अन्तर्राष्ट्रीय स्तर तक पहुंचता है।

बेटी

बेटी बचाना सभी की जिम्मेदारी

श्री यादव ने शहरों में बढ़ते प्रदूषण एवं साफ-सफाई तथा पेयजल की समस्या पर भी चिन्ता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि पर्यावरण को स्वच्छ एवं संतुलित रखने के लिए हम सबको सहयोग देना चाहिए। उन्होंने गिरते लिंगानुपात की गम्भीर समस्या की ओर भी ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा कि बेटियों को बचाना सभी की जिम्मेदारी है। इसके लिए समाज में जागरूकता उत्पन्न करने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक समय में गंगा का पानी निर्मल था और इसका उपयोग पीने के लिए किया जाता था। गंगा में प्रदूषण इस कदर बढ़ेगा कि इसे साफ करने की जरूरत पड़ेगी, किसी ने पहले सोचा तक नहीं था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में सद्भावना का प्रसार एक ऐसा मिशन है, जिसका हर स्तर पर सहयोग करके उद्देश्य की सफलता में सहयोग करना चाहिए। हमें बड़े उद्देश्यों के साथ बिना किसी भेदभाव के जुड़ना चाहिए। उन्होंने बेटी बचाओ और गंगा सफाई के प्रति लोगो का भी आह्वान किया। ग्रीन पार्क में शान्ति के प्रतीक सफेद श्वेत कबूतर तथा रंग-बिरंगे गुब्बारे उड़ाकर यात्रा के उद्देश्यों को परिपुष्ट किया।

कार्यक्रम में उपस्थित जन-समूह को सम्बोधित करते हुए श्री एम ने कहा कि हमारी यात्रा ही हमारे उद्देश्य की आवाज है। उन्होंने कहा कि उप्र में आशा यात्रा का जितना भव्य स्वागत हुआ है, उससे मुझे विस्वास हो गया है कि आपस में प्रेम और सद्भाव से मिलजुल कर रहने की मेरी अपील को देशवासियों ने स्वीकार किया।

इससे पहले फूलबाग से आशा पद यात्रा शुरू हुई। जगह जगह बने स्टेजों में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित कर स्कूली बच्चों ने यात्रा का स्वागत किया। भारी संख्या में लोग पदयात्रा में चल रहे थे। यात्रा ग्रीनपार्क में पहुंच कर कार्यक्रम के रूप में बदल गई। जहाँ भी स्कूली बच्चों द्वारा कार्यक्रम प्रस्तुत किये गए।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button