खुलासा: भारत में इस साल हो जाएंगे दस लाख बेरोजगार

नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र श्रम संगठन  की रिपोर्ट ने एक चौंकान वाला खुलासा किया है। रिपोर्ट के मुताबिक साल 2017 और 2018 के बीच भारत की बेरोजगारी दर में मामूली इजाफा हो सकता है। साथ ही, नई नौकरियों के अवसर बनने में दिक्कतें आ सकती है। संगठन की गुरुवार को जारी रिपोर्ट में कहा गया है 2017 में बेरोजगारों की संख्या साल 1.77 करोड़ से बढ़कर 1.78 करोड़ होने की आशंका है। वहीं, 2018 में यह संख्या बढ़कर 1.8 करोड़ तक पहुंच सकती है।

बेरोजगारी दर

रिपोर्ट में इस साल बेरोजगारी दर 3.4 फीसदी रहने की आशंका

संयुक्त राष्ट्र श्रम संगठन की रिपोर्ट के मुताबिक 2017-18 में बेरोजगारी दर 3.4 फीसदी बनी रहेगी। हालांकि साल 2016 में भारत में अच्छे रोजगार के अवसर बने है। वर्ष 2017 और वर्ष 2018 में भारत में रोजगार सृजन की गतिविधियों के गति पकड़ने की संभावना नहीं है क्योंकि इस दौरान धीरे धीरे बेरोजगारी बढ़ेगी और प्रतिशत के संदर्भ में इसमें गतिहीनता दिखाई देगी।

भारत की आर्थिक ग्रोथ से एशियाई इकोनॉमी को मिल रहा है बढ़ावा

रिपोर्ट में यह भी स्वीकार किया गया कि 2016 में भारत की 7.6 फीसदी की वृद्धि दर ने पिछले साल दक्षिण एशिया के लिए 6.8 प्रतिशत की वृद्धि दर हासिल करने में मदद की है।

ILO ने जारी की नई रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) ने 2017 में अंतरराष्ट्रीय रोजगार एवं सामाजिक दृष्टिकोण पर अपनी रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट के अनुसार रोजगार जरूरतों के कारण आर्थिक विकास पिछड़ता जा हो रहा है और इसमें पूरे 2017 के दौरान बेरोजगारी बढ़ने तथा सामाजिक असामनता की स्थिति के और बिगड़ने की आशंका जताई गई है।

Related Articles

Leave a Reply