लखनऊ में खुलेगी बेग़म हज़रत महल महिला यूनिवर्सिटी

0

लखनऊ। जैसे-जैसे 2017 में होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव करीब आ रहे हैं वैसे-वैसे सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के फैसले में भी तब्दीलीआती दिखाई दे रही है। ऐसा ही एक फैसला उन्होंने करते हुए उन्होंने लखनऊ में महिला विश्व विद्यालय खोले जाने का ऐलान किया है। उन्होंने इस विश्वविद्यालय का नाम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बेग़म हज़रत महल के नाम पर रखे जाने की घोषणा की है।

बेग़म हज़रत महल

बेग़म हज़रत महल के नाम पर खुलेगा महिला विश्व विद्यालय

इस महिला विश्वविद्यालय को स्थापित करने का ऐलान करने हुए अखिलेश यादव ने कहा कि बेग़म हज़रत महल के देशप्रेम और वीरता को सम्मान देते हुए समाजवादी सरकार ने महिला विश्वविद्यालय की स्थापना का फैसला लिया है।

अखिलेश यादव ने कहा कि 1857 के प्रथम स्वाधीनता संग्राम में बेग़म हज़रत महल के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। उनके देशप्रेम और वीरता को सम्मान देते हुए समाजवादी सरकार उनकी स्मृति में महिला विश्वविद्यालय की स्थापना करवाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर के कई नामीगिरामी समाजसेवियों एवं शिक्षाविदों ने उनसे मुलाकात कर बेग़म हज़रत महल के योगदान को मान्यता देने के उद्देश्य से इस सम्बन्ध में अनुरोध किया था।

मुख्यमंत्री ने उनके अनुरोध को स्वीकार करते हुए बेग़म हज़रत महल महिला विश्वविद्यालय स्थापित करने की घोषणा की है। अब जब राज्य सरकार अपने कार्यकाल के आखिरी दौर में है उस समय एक विश्व विद्यालय की स्थापना की घोषणा करना एक बेहतर वादा ही कहा जा सकता है।

अखिलेश यादव के इस घोषणा के बात राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चाएं तेज हो गई हैं। राजनीतिक विश्लेषक अखिलेश एक इस फैसले को एक राजनीतिक स्टंट करार दे रहे हैं। उनका कहना है कि अखिलेश यादव ने अल्पसंख्यक वोट बैंक में मजबूती के लिए यह फैसला लिया है।

आपको बता दें कि बीते विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने जीत हासिल कर पूर्ण बहुमत से सरकार बनाई थी। सपा की इस जीत में मुस्लिम वोट बैंक को बहुत बड़ा कारण बताया जा रहा था।

loading...
शेयर करें