भाजपा की कोर कमेटी में बागियों पर आज होगा फैसला

0

भाजपा की कोर कमेटीदेहरादून। उत्तराखंड के नौ बागी विधायकों का बीजेपी में शामिल होने की कवायद चल रही है। दिल्ली में भाजपा की कोर कमेटी की बैठक में कांग्रेस के नौ बागियों की ज्वाइनिंग की चर्चा जोरों पर है। इसे लेकर उत्तराखंड में चर्चा का बाजार गर्म हो गया है।

भाजपा की कोर कमेटी की बैठक में बागियों की एंट्री का विरोध

भाजपा की कोर कमेटी में बागियों की एंट्री का विरोध पर घमासान और तेज हो गया है। जहां से बागी विधायक थे, उन क्षेत्रों के नेता भी अपने टिकट की गारंटी लेने के लिए दिल्ली पहुंच गए हैं। ओमगोपाल रावत नरेंद्रनगर से विधायक रह चुके हैं और वह इस बार टिकट के प्रबल दावेदार हैं।

मजे की बात यह है कि इन्होंने उन्हीं सुबोध उनियाल को हराया, जो अब भाजपा में शामिल होने वाले हैं। आशा नौटियाल केदारनाथ से विधायक रह चुकी हैं और जिनसे वह पिछला चुनाव हारीं वही शैला रानी रावत भी भाजपा में शामिल हो रही हैं। सुरेश चंद जैन रुड़की से कांग्रेस के प्रदीप बत्रा से मात्र 600 वोट से हार गए और अब वही बत्रा भाजपा ज्वाइन करने वाले हैं।

बागी विधायकों की एंट्री पर हो रहा है विरोध

रुद्रप्रयाग से मातबर सिंह कंडारी कई बार विधायक रहे, पिछला चुनाव वह हरक सिंह रावत से हार गए, अब रावत भाजपा में आ रहे हैं। यही स्थिति अन्य बागियों की सीटों पर है। श्रीनगर से धनसिंह रावत हालांकि कांग्रेस के गणेश गोदियाल से हारे थे, लेकिन सूत्रों की मानें तो पार्टी ने हरक सिंह को जिन सीटों से चुनाव लड़ने को कहा है उनमें श्रीनगर भी शामिल है। इसलिए धनसिंह रावत परेशान हैं।

बताया जा रहा है कि अभी बागी विधायक दिल्ली पहुंच गए हैं। इन नेताओं के विरोध को लेकर पार्टी के आला नेता काफी परेशान हैं। क्योंकि अगर बागी विधायकों की एंट्री का विरोध बढ़ेगा तो पार्टी को नुकसान भी झेलना पड़ सकता है।

loading...
शेयर करें