भारत नेपाल के बीच रोटी-बेटी के रिश्ते को कोई ताकत नहीं तोड़ सकती : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

नई दिल्ली. नेपाल के साथ सीमा विवाद को लेकर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बातचीत कर हल निकालने के प्रयास पर जोर दिया है। उन्होंने कहा कि भारत और नेपाल के बीच गलतफहमी है जिसे बातचीत से सुलझाया जाएगा। आपको बता दें कि अमित शाह ने यह बातें उत्तराखंड में बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ ‘जन सम्वाद’ कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन में कहीं।

ज्ञात हो कि उत्तराखंड से लगती सीमा पर ही नेपाल ने ज्यादा तनाव उत्पन्न किया है। जिसको लेकर रक्षामंत्री ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि भारत नेपाल के बीच रोटी-बेटी का रिश्ता है। इस असाधारण संबंध को दुनिया की कोई भी ताकत नहीं तोड़ सकती है। अपने संबोधन में रक्षामंत्री ने यह भी कहा कि पहले मानसरोवर जाने वाले यात्री सिक्किम के नाथुला रूट से जाते थे। इस मार्ग से यात्रा में अधिक संबंध लगता था। बॉर्डर रोड ऑर्गनाइजेशन ने लिपुरेख के बीच एक लिंक रोड का निर्माण किया जिससे मानसरोवर जाने के लिए नया रास्ता खुल गया। हमारे और पड़ोसी देश नेपाल के बीच कुछ गलतफहमियां जरूर पैदा हुई हैं जिसे हम बातचीत के जरिए सुलझा लेंगे। रक्षामंत्री ने यह भी बताया कि लिपरेख में बनाई गयी सड़क भारतीय सीमा के ही भीतर है।

राजनाथ सिंह ने नेपाल के साथ अन्य संबंधों की भी याद दिलाते हुए कहा कि, “नेपाल के साथ हमारे सामाजिक, भौगोलिक, ऐतिहासिक औऱ सांस्कृतिक रिश्ते ही नहीं आध्यात्मिक रिश्ते भी हैं। मैं विश्वास के साथ कहना चाहता हूं कि भारतीयों के मन में कभी भी नेपाल को लेकर किसी भी प्रकार की कटुता पैदा नहीं हो सकती है। हमारा और नेपाल का गहरा संबंध है हम मिलकर इन सभी समस्याओं का समाधान करेंगे।”

Related Articles