पाक की ना’पाक’ साजिश का खुलासा, छोटे-छोटे बच्चों की मदद से करना चाह रहे घुसपैठ

0

श्रीनगर: पाकिस्तान ने भारत में घुसपैठ करने का एक नया तरीका खोज निकाला है। इसके लिए वह अपने देश के उन छोटे बच्चों की मदद ले रहे हैं जिनके पकडे जाने पर भारतीय सेना को शक न हो। यह आशंका भारतीय सेना ने तब जताई जब सेना की एक टुकड़ी ने गश्त दौरान राजौरी जिले से एक 12 साल के पाकिस्तानी लड़के को गिरफ्तार किया।

भारत में घुसपैठ

भारत में घुसपैठ करने के लिए पाक ले रहा मासूम बच्चों की मदद

बताया जा रहा है कि यह लड़का पाक अधिकृत्य कश्मीर का रहने वाला है और नियंत्रण रेखा पार कर भारतीय क्षेत्र में दाखिल हो गया था। इस बात की जानकारी देते हुए रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि 12 वर्षीय एक बच्चा शुक्रवार शाम एलओसी पार कर राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में दाखिल हो गया था।

प्रवक्ता ने लड़के की जानकारी देते हुए बताया कि इस मासूम घुसपैठिये का नाम अशफाक अली चौहान है। वह पाक अधिकृत्य कश्मीर के डंगर पेल गांव के बलूच रेजिमेंट के सेवानिवृत्त सैनिक का बेटा है। उसे इस ओर नियंत्रण रेखा के पास संदिग्ध तौर पर घूमते हुए पाया गया था।

प्रवक्ता ने बताया कि सेना के गश्ती दल के उसे रुकने के लिए कहते ही उसने तुरंत सरेंडर कर दिया था। सेना के सूत्रों ने बताया कि सेना को संदेह है कि आतंकवादियों ने पाकिस्तानी सेना के साथ मिलकर उसे नियंत्रण रेखा के पार भारत में घुसपैठ के मार्ग का पता लगाने के लिए भेजा था।

उन्होंने कहा कि अत्यधिक सैन्य निगरानी वाले भारतीय क्षेत्र में एलओसी का मुआयना करने के लिए 12 वर्षीय बच्चे को भेजना पाकिस्तान द्वारा मानवाधिकार के उल्लंघन को भी उजागर करता है। सेना आगे की जांच के लिए बच्चे को पुलिस के हवाले कर देगी।

loading...
शेयर करें