भारत में जीका वायरस का हमला, गुजरात में तीन मामले आए सामने

0

नई दिल्ली। जीका वायरस ने एक बार फिर भारत पर हमला किया है। ब्राजील और दक्षिण अमेरिका में दहशत फैलाने के बाद भारत में जीका वायरस ने दस्‍तक दी है। गुजरात में तीन लोगों में इस वायरस के हाने की पुष्टि की गई है।

भारत में जीका वायरस

भारत में जीका वायरस का पहला मामला

भारत में जीका वायरस के पाए जाने का ये पहला मामला है। तीनों ही मरीज अहमदाबाद के बापूनगर इलाके के रहने वाले हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन की वेबसाइट पर छपी रिपोर्ट में बताया गया है कि अहमदाबाद के बीज.जे. मेडिकल कॉलेज (BJMC) ने 10 से 16 फरवरी 1016 के बीच 93 ब्लड सैंपल इकट्ठे किए थे।

गर्भवती महिला और एक बुजुर्गमें पाया गया वायरस

इनमें से एक 64 साल के बुजुर्ग में जीका वाइरस पाए गए। यह भारत में जीका वाइरस के संक्रमण का पहला केस है। इसी तरह एक 34 साल की महिला के ब्लड सैंपल में भी जीका वाइरस पाने की पुष्टि हुई है। महिला ने पिछले साल नवंबर में बीजेएमसी में ही एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया था। उस समय लिए गए उसके ब्लड सैंपल में जीका वाइरस पाए जाने की पुष्टि हुई है। 22 साल की एक गर्भवती महिला भी जीका वाइरस से पीड़ित है।

पिछले साल भी एक केस आया था सामने

महिला का इसी साल जनवरी में ब्लड सैंपल लिया गया था। उस समय महिला को 37 हफ्ते का गर्भ था। जीका वायरस का पहला केस फरवरी 2016 में दर्ज हुआ था। जबकी दूसरा केस नवम्बर 2016 और तीसरा केस जनवरी 2017 में सामने आया था।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने भी की पुष्टि

भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी इस वायरस की पुष्टि की है। अंत में पुणे की नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी की रेफरेंस लेबोरेटरी में इस टेस्ट के नतीजे आये है, जिसमें तीनो लोगों के आरटी-पीसीआर टेस्ट पॉजिटिव पाये गये है। यह टेस्ट अहमदाबाद की बीजे मेडिकल कॉलेज में किये गये थे।

loading...
शेयर करें