भूमि पूजन समारोह का जश्न मनाने को लेकर भारतीय-अमेरिकियों ने निकाली झांकी

रामनगरी अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण का बरसों बाद शुरू होने जा रहा है। पांच सदी तक चले राम मंदिर निर्माण के आंदोलन की धरती भले ही अयोध्या रही, लेकिन मर्यादा पुरुषोत्तम की धरा ने धैर्य कभी नहीं छोड़ा। रामभक्तों के बलिदानी संघर्ष पर भरोसे की नींव टिकी हुई थी और सभी को भरोसा था कि एक न एक दिन रामलला का भव्य मंदिर बनेगा और रामलला उसमें विराजेंगे। इसके लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इसे लेकर अयोध्यावासियों के साथ पूरे देश में उत्साह है।

वहीं अमेरिका में रहने वाले भारतीय अयोध्या में ऐतिहासिक राम मंदिर के शिलान्यास समारोह की खुशी जाहिर करने के लिए अमेरिकी कैपिटल हिल पर मौजूद हो गए हैं। यहां एक झांकी ट्रक राम मंदिर की डिजिटल तस्वीरों को प्रदर्शित करते हुए कैपिटल हिल के चक्कर लगाएगे मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन समारोह अयोध्या में बुधवार को हो रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस कार्यक्रम में शामिल हो चुके है।

राम मंदिर के भूमि पूजन को लेकर हिंदू समुदाय के नेताओं ने बताया कि अमेरिका भर में जितने भी मंदिर है सभी में विशेष पूजा एवं अर्चना की जाएगी। वहीं बड़ी संख्या में भारतीय-अमेरिकियों ने राम मंदिर के भूमि पूजन के अवसर पर दीये जाला कर जश्न मनाएंगे।

वाशिंगटन डीसी के और आस-पास के भारतीय-अमेरिकियों ने कहा था कि श्री राम मंदिर पर बड़े एलईडी प्रदर्शनी के साथ एक झांकी ट्रक मंगलवार रात को कैपिटल हिल और व्हाइट हाउस के चक्कर लगाएगा।यहां समुदाय के नेताओं की ओर से जारी बयान में कहा गया था, ‘विश्व भर के एक अरब हिंदुओं के लिए पवित्र स्थल पर ऐतिहासिक मंदिर निर्माण की शुरुआत के उपलक्ष्य में अयोध्या श्री राम मंदिर झांकी ट्रक अमेरिकी कैपिटल हिल के चक्कर लगाएगा।’

हिंदू मंदिर कार्यकारी सम्मेलन और हिंदू मंदिर पुजारी सम्मेलन ने इस समारोह का आनंद लेने के लिए पूरे अमेरिका में डिजिटल रूप से सामूहिक राष्ट्रीय प्रार्थना करने का भी आह्वान किया है। इसी तरह न्यूयॉर्क शहर में भी, हिंदू समुदाय के नेताओं ने ऐतिहासिक अवसर का जश्न मनाने का फैसला किया है।
समुदाय के प्रमुख नेता एवं अमेरिका भारत जन मामला समिति के अध्यक्ष जगदीश सेवहानी ने कहा था कि इस अवसर के लिए जिन प्रमुख होर्डिंग को लीज पर लिया गया है उनमें विशाल नैसडेक स्क्रीन और 15,000 वर्ग फीट का एलईडी डिसप्ले स्क्रीन शामिल है जिन्हें विश्व का सबड़े बड़ा लगातार चलने वाला बाहरी डिसप्ले माना जाता है।

Related Articles

Back to top button