मंदिर में हादसा : मरने वालों की संख्या 110 तक पहुंची, अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं

0

मंदिरकोल्लम/नई दिल्ली। केरल के कोल्लम के पुतिंगल मंदिर में हुए हादसे को 24 घंटों से ज्यादा का समय हो गया है, लेकिन अभी तक इस मामले में एक भी गिरफ्तारी नहीं हुई है। क्राइम ब्रांच की टीम इस मामले की जांच में जुटी है।

मंदिर में हादसा

मंदिर में रविवार तड़के लगभग साढ़े तीन बजे बिना अनुमति आतिशबाजी की गई, जिसकी चिंगारी ने भयंकर आग की शक्ल ले ली। इस हादसे में अब तक करीब 110 लोगों की मौत चुकी है और 350 से ज्यादा लोग घायल हो गए। घायलों में कई की हालत नाजुक है।

मंदिर परिसर में आतिशबाज़ी प्रशासन की अनुमित नहीं मिलने के बाद हुई, फिर भी अब तक किसी की गिरफ्तारी न हो पाना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कल मौके का दौरा किया था और हालात का जायजा लिया था। उन्होंने अस्पताल जाकर घायलों का हालचाल जाना। मोदी अपने साथ मेडिकल टीम भी ले गए थे।

अब तक सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 110 लोगों की मौत हुई है जिनमें 75 की पहचान हो गई है जबकि 31 की शिनाख्त नहीं हो पाई है। 84 शवों का पोस्टमार्टम कर दिया गया है। इस हादसे से पूरे राज्य में शोक की लहर है। केरल में अगले महीने वोटिंग होनी है, लेकिन इस हादसे ने लोगों को काफी सदमा पहुंचाया है।

कोल्लम मंदिर हादसे में मारे गए लोगों के परिवार को प्रधानमंत्री राहत कोष से दो-दो लाख रुपये देने का एलान किया है साथ ही घायलों को 50 हजार रुपये की मदद दी जाएगी। वहीं केरल के मुख्यमंत्री ओमान चांडी ने पुत्तिंगल मंदिर हादसे में मारे गए लोगों के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजा देना का एलान किया है।

इस हादसे में सुरेंद्रन नाम के शख्स के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। सुरेंद्रन पर तय सीमा से दस गुना ज्यादा पटाखे जमा करने का आरोप है। भीषण हादसे को देखते हुए सभी राजनीतिक पार्टियों ने रविवार को अपने चुनावी कार्यक्रम रद कर दिए।

loading...
शेयर करें