मथुरा कांड: रामवृक्ष के सुरक्षा अधिकारी वीरेश यादव को पुलिस ने किया गिरफ्तार

0

मथुरा। जवाहरबाग कांड के मास्टर माइंड रामवृक्ष यादव के सुरक्षा अधिकारी वीरेश यादव को क्राइम ब्रांच और मथुरा पुलिस ने पुलिस ने गिरप्तार कर लिया है। वीरेश को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने वीरेश और उसकी पत्नी व बच्चों से घंटों पूछताछ की। इस पूछताछ में पुलिस को कई अहम जानकारियां प्राप्त हुई हैं। बता दें कि वीरेश रामवृक्ष की कोर टीम का यह तीसरा अहम मेंबर है। पुलिस ने वीरेश को गिरफ्तार करने के बाद उसके कई ठिकानों पर भी छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि वीरेश पेशे से शॉर्प शूटर है। वह लोगों को इसकी ट्रेनिंग भी देता है।

मथुरा कांड

क्या था मामला

2 जून को मथुरा स्थित जवाहर बाग को खाली कराने पहुंची पुलिस और सत्याग्रहियों के बीच टकराव हो गया था। जिसमें हुई फायरिंग के बाद एक एसओ फरह संतोष कुमार और एसपी समेत 29 लोगों की मौत हो गई थी। 23 पुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिस जवाहर बाग में बागवानी विभाग की करीब 250 एकड़ जमीन पर अवैध कब्‍जे को हटाने पहुंची थी।

कई साल से जमाए हैं कब्‍जा

हजारों कथित सत्याग्रही बाग पर कई साल से कब्जा जमाए है। हाई कोर्ट के आदेश पर प्रशासन पिछले दो माह से बाग खाली कराने की तैयारियों में लगा था। मथुरा स्थित जवाहरबाग सरकारी जमीन है। इस पर करीब 100 एकड़ का बाग है। खुद को सत्याग्रही बता रहे लोग साल 2014 में बरेली से भगाए गए थे जिसके बाद इन्हें मथुरा प्रशासन द्वारा जवाहर बाग की जगह दी गई थी।

राजकीय संपत्ति को हुई क्षति

इससे पहले सिटी मजिस्ट्रेट की ओर से जारी नोटिस में बताया गया था कि करीब 3000 लोग बीते दो साल से उद्यान विभाग की राजकीय संपत्ति जवाहर बाग में धरना प्रदर्शन के नाम पर अवैध कब्जा किए हैं। इसके कारण राजकीय संपत्ति को लाखों रुपये की क्षति पहुंची है। सत्याग्रहियों के खिलाफ 10 से अधिक मुकदमे पंजीकृत हैं।

loading...
शेयर करें