मधुमक्खी पालन से किसान को मिलेगी आर्थिक राहत : अमिताभ बाजपेई

0

गोरखपुर। किसान अपने खेत के फसल को बढाने के लिए हर हथकंडे अपनाता है, ताकि उसकी फसल की उपज अच्छी हो सके। इसके साथ ही साथ उसकी सोच ये भी होती है कि खेती के अलवा कोई ऐसा बिजिनेस करें ताकि फसल बर्बाद होने पर भी उन्हें कोई दिक्कत ना हो। जिसको लेकर ग्रामीण सेवा समिति लखनऊ के अध्यक्ष अमिताभ बाजपेई नेशनल पीजी कालेज बड़हलगंज के सभागर में किसानों के मधुमक्खी पालन संबंधी प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मधुमक्खी पालन करके किसान आर्थिक स्थिति को  और बेहतर बना सकते हैं। वहीँ उन्होंने ये भी कहा कि इसके लिए न तो अधिक जगह की आवश्यकता होती है और न ही अधिक पूंजी की। बस थोड़ी सी देखभाल से अच्छा लाभ मिल सकता है।

मधुमक्खी पालन

मधुमक्खी पालन किसानों के लिए बेहतर

उन्होंने कहा कि भूमिहीन किसान भी मधुमक्खी पालन के द्वारा अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर बना सकते हैं। वे अपने मधुमक्खी के बक्से किसी खेत पर ले जाकर लगा दें।

इससे फसल उत्पादन भी बढ़ेगा और शहद भी मिलेगा। महाविद्यालय के प्राचार्य डा. डी. तिवारी ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि वह इस कार्यक्रम को स्थाई रूप से चलाने हेतु अपना सहयोग देते रहेंगे। संदीप कुमार मिश्र ने कहा कि कृषकों को मधुमक्खी पालन के अलावा अन्य फसली खेती एवं सब्जी उत्पादन द्वारा आय वृद्धि पर चर्चा की।

loading...
शेयर करें