मनप्रीत बादल ने थामा कांग्रेस का हाथ

0

चंडीगढ़। मनप्रीत बादल कैप्टन अमरिन्दर सिंह के साथ आ गए हैं। पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए सरगर्मी तेज हैं। बड़ी और बुरी खबर एनडीए के लिए आई है। मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के भतीजे मनप्रीत बादल कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। आम आदमी पार्टी की वजह से बढ़ी अकाली दल और बीजेपी चिंताएं मनप्रीत बादल के कदम से और बढ़ सकती हैं।

मनप्रीत बादल

मनप्रीत बादल की पीपीपी कांग्रेस में मिलेगी

मनप्रीत बादल पंजाब पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष थे। खबर है कि मनप्रीत अपनी पार्टी का कांग्रेस में विलय करेंगे। गौरतलब है कि अकाली दल के बड़े नेता मनप्रीत ने कुछ वक्त पहले पार्टी से मनमुटाव के बाद अपनी अलग पार्टी बना ली थी। हालांकि लोकसभा चुनाव में मनप्रीत की पार्टी कोई खास करिश्मा नहीं दिखा पाई थी। पीपीपी ने एक भी सीट नहीं जीती थी लेकिन वोटों का गणित बिगाड़कर अकाली दल और बीजेपी को बड़ा नुकसान पहुंचाया था।

गौरतलब है कि पंजाब में 2017 में विधानसभा चुनाव है लेकिन अभी से ही वहां राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई हैं। नेताओं की तोड़फोड़ के साथ ही बयानबाजी भी शुरू हो गई है। कांग्रेस ने तो यहां तक कह दिया है कि उनकी लड़ाई अकाली से नहीं बल्कि आम आदमी पार्टी के साथ है। अरविंद केजरीवाल ने भी मकर संक्रांति से अपनी सभाएं शुरू कर दी हैं। केजरीवाल के कल अपनी पहली चुनावी सभा पंजाब के मुक्तसर में की थी। लोगों की भीड़ को देखते हुए लगता है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी बड़ा उलटफेर करने का दम रखती है।

2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान जब पूरे देश में मोदी की लहर चल रही थी उस वक्त भी आम आदमी पार्टी ने सूबे की चार सीटें जीती थी। हालांकि इस बात में भी कोई दो राय नहीं कि आम आदमी पार्टी की पंजाब इकाई में मतभेद हद से ज्यादा हैं जो केजरावाल के लिए एक बड़ी चुनौती हो सकते हैं।

loading...
शेयर करें