किस करने पर आंखें बंद करने का मनोवैज्ञानिकों ने खोला राज

0

नई दिल्ली। आमतौर पर लोग किस करते समय अपनी आखें बंद कर लेते हैं। लोग समझते हैं कि ऐसा करने से आनंद की पूर्ति होती है। लोग आखें बंद करके किस करने में खो जाते हैं। लेकिन आखें बंद करने का वैज्ञानिकों ने एक नया कारण बताया है। वैज्ञानिकों ने बताया कि जब दो लोग किस करते हैं तो उस समय उनका दिमाग एक बार में दो से अधिक चीजों के बारे में नहीं सोच सकता।

kiss

मनोवैज्ञानिकों ने दिया किस पर आंखें बंद करने का तर्क

रॉयल होलोवे लंदन विश्वविद्यालय के मनोवैज्ञानिकों ने कहा कि जब दो लोग किस करते हैं तो उस समय मस्तिष्‍क पर सिलवटें पड़ती हैं और मुश्किलें होती हैं। वहीं इसी यूनिवर्सिटी के मानव धारणा और प्रदर्शन : प्रायोगिक मनोविज्ञान के जर्नल विभाग के पॉली डॉलटन और सैंड्रा मर्फी ने बताया कि आंख बंद करके किस करते समय जब दो लोग एक दूसरे को स्पर्श करते हैं तो उस समय दिमाग एक अवधारणा के भार स्‍तर के तौर पर काम करता है।

देखने में होती है कठिनाई

अगर शिक्षाविदों की माने तो किस करते समय दो लोग एक दूसरे को देखना उचित नहीं समझते। वे सिर्फ उस आनंद का मजा लूटना चाहते हैं। शिक्षाविदों ने बताया कि उस समय एक दूसरे को देखने में अपना समय बर्बाद नहीं करना चाहते।

कम हो जाती है जागरूकता

डॉ डाल्टन ने संडे टाइम्स को बताया कि हम एक समय पर एक काम करते होते हैं तो उसी पर फोकस करना चाहिए। अगर चुंबन करते समय हम लोग एक दूसरे को देखेंगे तो उससे जागरूकता में कमी आएगी।

सुनना और छूना दो अलग चीज

मनोवैज्ञानिक बताते हैं जिस तरह ड्राइविंग सीट पर बैठने वाला अपने दिमाग को सतर्क रखता है ठीक उसी प्रकार जब दो लोग किस करते हैं तो वे अपने दिमाग को सतर्क रखते हैं। ऐसा जरूरी भी हैं ऐसा मनोवैज्ञानिक मानते हैं। इसके साथ इन लोगों ने एक उदाहरण यह भी दिया कि ब्रेल लिपी पढ़ते समय भी आंख बंद रहती है तो सारा फोकस पढ़ने पर रहता है।

देखें वीडियो

loading...
शेयर करें