पर्रिकर को ‘दायरे के भीतर’ अभिव्यक्ति की आजादी में विश्वास

0

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने गुरुवार को कहा कि वह अभिव्यक्ति की आजादी में भरोसा रखते हैं, पर यह सब एक दायरे में होना चाहिए। पर्रिकर से जब एबीवीपी के खिलाफ अभियान छेड़ने वाली दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा गुरमेहर कौर पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, “अभिव्यक्ति की आजादी की भी एक सीमा होती है। मैं कानून के दायरे में रहकर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता में विश्वास रखता हूं। आप किसी अन्य व्यक्ति के अधिकारों का हनन नहीं कर सकते।”

मनोहर पर्रिकर

मनोहर पर्रिकर ने गुरमेहर कौर मामले में दिया बड़ा बयान

लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा गुरमेहर कौर ने पिछले सप्ताह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) द्वारा रामजस कॉलेज में जबरन एक सेमीनार रद्द करवाए जाने के बाद उसके खिलाफ सोशल मीडिया पर मुहिम शुरू की थी, जिसके बाद उन्हें दुष्कर्म व जान से मारने की धमकियां दी गईं।

एबीवीपी 21 फरवरी को रामजस कॉलेज में आयोजित सेमीनार में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र उमर खालिद को आमंत्रित किए जाने से नाराज थी, जिसे पिछले साल कथित राष्ट्र-विरोधी नारेबाजी के लिए हिरासत में लिया गया था। अगले दिन यानी 22 फरवरी को एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर विश्वविद्यालय परिसर में छात्रों, शिक्षकों व पत्रकारों की पिटाई का आरोप लगा।

loading...
शेयर करें