फिर भड़क उठा दार्जिलिंग – 3 लोगों की मौत, ममता ने सेना को वापस बुलाया

0

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में पृथक राज्य की मांग को लेकर चल रहा विरोध-प्रदर्शन शनिवार को फिर से हिंसक हो उठा। जिसके बाद सीएम ममता बनर्जी ने सेना को वापस बुला लिया। गोरखालैंड समर्थकों ने एक पुलिस चौकी, एक टॉय ट्रेन स्टेशन में आग लगा दी और दो जगहों पर पुलिस के साथ झड़प हुई। इस हिंसा में तीन लोगों के मारे जाने की भी खबर है।

ममता बनर्जी

के ऑफिस और एक पुलिस की गाड़ी को जला दिया

गोरखालैंड के समर्थकों ने टीएमसी के ऑफिस और एक पुलिस की गाड़ी को जला दिया। प्रदर्शनकारियों ने टॉय ट्रेन के लिए मशहूर दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे के स्टेशन पर वेटिंग रूम को फूंक दिया और वहां रखे फर्नीचर से तोड़-फोड़ की। उग्र प्रदर्शन को काबू करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा तथा आंसू गैस के गोले दागने पड़े। सुबह से शाम तक पुलिस व आंदोलनकारियों के बीच झड़पें होती रहीं। शुक्रवार रात से शनिवार शाम तक हुई हिंसक घटनाओं में चार लोगों की मौत व आठ लोगों के घायल होने की सूचना है।

ममता ने कहा कि दार्जिलिंग में हिंसा पूर्व नियोजित है

जीएनएलएफ प्रवक्ता नीरज जिम्बा ने दावा किया कि सुरक्षा बलों ने बीती रात युवक ताशी भुटिया की गोली मार कर हत्या कर दी, जब वह सोनादा में दवा खरीदने गया था। गोलीबारी के बारे में पूछे जाने पर पुलिस महानिरीक्षक जावेद शमीम ने कहा, जांच के बाद इस बारे में पता चल पाएगा। दार्जिलिंग में फिर से नए रूप में भड़की हिंसा से ममता सरकार की चुनौतियां बढ़ सकती हैं, जो पहले ही नॉर्थ 24 परगना के बशीरहाट में हुई हिंसा से जूझ रही है। बीजेपी जेजीएम की साझेदार है। ममता बनर्जी ने कहा कि दार्जिलिंग में हिंसा पूर्व नियोजित है। हिंसा से विदेशी तार भी जुड़े हैं।

loading...
शेयर करें