IPL
IPL

नेताजी को ‘राष्ट्र नेता’ का खिताब दिया जाए

दार्जीलिंग। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार को यह जानने के लिए रूस से बात करनी चाहिए कि नेताजी के साथ वहां क्या हुआ था। उन्होंने यह भी पूछा कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी हाल की यात्रा के दौरान इस मुद्दे पर बात की थी। नेताजी की 119वीं जयंती पर राज्य सरकार द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बनर्जी ने कहा, “हमें यह जानने का अधिकार है कि रूस में नेताजी के साथ क्या हुआ था।”

ममता बनर्जी

ममता बनर्जी की मांग

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे जुड़ी कुछ फाइलें सार्वजनिक की हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, “हम वे फाइलें देखना चाहते हैं, जो इस बात पर प्रकाश डालेंगी कि देश छोड़ने के बाद नेताजी के साथ क्या हुआ। हम वे फाइलें भी देखना चाहते हैं, जिनमें यह जानकारी है कि सुभाष चंद्र बोस जीवित थे या नहीं। हमें इन प्रश्नों के उत्तर चाहिए और अगर जरूरत पड़े तो केंद्र सरकार को रूसी राष्ट्रपति से बात करनी चाहिए।”

नेताजी को ‘राष्ट्र नेता’ का खिताब दिए जाने की मांग करते हुए बनर्जी ने कहा कि जनता को सच्चाई जानने का हक है। यह दोहराते हुए कि नेताजी के जीवन के अंतिम दिनों से जुड़ा सच दस्तावेजों और सबूतों के साथ बाहर आना चाहिए, बनर्जी ने कहा, “यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम देश के भविष्य युवाओं को सच्चाई बताएं।”

उल्लेखनीय है कि ममता बनर्जी सरकार ने 18 सितम्बर, 2015 को नेताजी के परिजनों की मौजूदगी में नेताजी से जुड़ी 12,744 पृष्ठों की 64 फाइलें सार्वजनिक की थी। नेताजी के करीब 70 साल पहले लापता होने के बारे में अभी भी रहस्य बरकरार है, जिसके खुलासे के लिए उनके परिजन उनसे जुड़ी सभी फाइलें सार्वजनिक किए जाने की मांग करते रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button