मर्यादा तार तार : वक्फ के नेता को डांस गर्ल संग ठुमके लगाना पड़ा भारी

0

रुड़की। वक्फ विकास परिषद के नवनियुक्त उपाध्यक्ष राव सज्जाद खान को अपने सम्मान समारोह में महिला डांसर्स के ठुमकों के बीच अपनी लाइसेंसी पिस्टल लहराना भारी साबित हुआ। मर्यादा तार तार करने वाले इस आचरण को सीएम हरीश रावत ने बेहद गंभीरता से लिया। शासन ने परिषद के उपाध्यक्ष पद पर उनकी नियुक्ति फिलहाल निलंबित कर दी। साथ ही, जिलाधिकारी हरिद्वार को सम्मान समारोह में राव सज्जाद खान के अशोभनीय आचरण के मामले की जांच के निर्देश भी दे दिए हैं। उधर, पुलिस महानिरीक्षक ने एसएसपी हरिद्वार को मामले में मुकदमा दर्ज करने और हवाई फायरिंग करने वालों के हथियारों के लाइसेंस रद्द कराने के निर्देश दिए हैं। बता दें कि उत्तराखंड में पहली बार अस्तित्व में आई उत्तराखंड वक्फ विकास परिषद के पहले उपाध्यक्ष राव सज्जाद ने कुर्सी संभालने के साथ ही मर्यादा तार तार कर दी। ताजपोशी की खुशी में हुए समारोह में ढंढेरा गांव में डांस गर्ल्स ने फिल्मी गीतों पर जमकर ठुमके लगाए। इसी समारोह में प्रदेश में कैबिनेट स्तर के दर्जाधारी मंत्री और खानपुर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन भी मौजूद थे उन्होंने भी डांस बालाओं पर नोट बरसाए। स्टेज पर डांस के दौरान हवाई फायरिंग भी की गई। मामला दरगाहों और मस्जिदों का सरंक्षण करने वाले वक्फ के उपाध्यक्ष से जुड़ा था और उनकी मौजूदगी में मर्यादा तार तार हुई थीं लिहाजा पूरा आयोजन ही विवादों में घिर गया। उलेमाओं के अलावा कई संगठनों और लोगों ने भी नाराजगी जताते हुए इस तरह की ताजपोशी और आयोजन पर सवाल उठाए थे।

ये भी पढ़ें – बसपा तैयार कर रही उत्तराखंड में मजबूत आधार

मर्यादा तार तार 2

मर्यादा तार तार करने में कुंवर प्रणब चैंपियन भी पीछे नहीं

प्रदेश में तमाम मस्जिदों, दरगाहों और कब्रिस्तानों का रखरखाव उत्तराखंड वक्फ बोर्ड के जरिये होता है। राज्य सरकार ने वक्फ संपत्तियों के विकास और संरक्षण के लिए पहली बार उत्तराखंड वक्फ विकास परिषद का गठन कर रुड़की के ढंढेरा निवासी राव सज्जाद को अध्यक्ष बनाया। रविवार को राव सज्जाद की ताजपोशी और उनके सम्मान में एक समारोह आयोजित किया गया जिसमें महिला डांसर्स को बुलाया गया। महिला डांसर्स ने जैसे ही फिल्मी गीतों पर ठुमके लगाने शुरु किए तो स्टेज पर ही मौजूद अध्यक्ष राव सज्जाद के साथ कैबिनेट स्तर के दर्जाधारी मंत्री कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने भी इन बालाओं पर नोट बरसाए। कार्यक्रम में हवाई फायरिंग भी की गई। इस नाच गाने का मंत्री और उनके समर्थकों ने खूब मजा लिया। देर रात तक हुए इस प्रकार के आयोजन पर अब गंभीर सवाल उठ रहे हैं।

ये भी पढ़ें – मिशन 2017 : बीजेपी को पटखनी देने के लिए कांग्रेस के पैंतरे तैयार

मर्यादा तार तार 3

वक्फ बोर्ड अध्यक्ष ने लहराई पिस्टल

आयोजन के दौरान नवनियुक्त अध्यक्ष राव सज्जाद ने खुद भी स्टेज पर डांस करते हुए पिस्टल लहराई। इसके बाद कुंवर चैंपियन को चांदी का मुकुट पहनाकर आभार भी जताया गया। डांस गर्ल्स के डांस के दौरान मोबाइल से वीडियो बनाने वालों की धक्का मुक्की होती रही और कई बार तो आपस में मारपीट की नौबत तक आ गयी। और बड़ी मुश्किलों से स्थिति को नियंत्रित करना पड़ा।

आयोजन पर विरोध और सफाई

मर्यादा को तार तार करने वाले इस आयोजन पर विरोध शुरु हो गया है। जीमयत उलमा ए हिंद के सदर मौलाना आरिफ कासमी ने कहा कि सरकार को मुस्लिम संस्थाओं में जिम्मेदारी देने से पहले सोचना समझना चाहिए। सरकार का ये फर्ज बनता है कि ऐसे जिम्मेदार ओहदों पर जांच परखकर संजीदा लोगों को ही बैठाए। डांस गर्ल्स को इस प्रकार नचाकर और उन पर नोट लुटाने वाले कौम की हिफाजत कैसे करेंगे। ये पूरी तरह गैर इस्लामी और गलत है। वहीं नवनियुक्त अध्यक्ष राव सज्जाद ने कहा कि खुशी के माहौल में जनता की मांग को देखते हुए नाच गाने का कार्यक्रम रखा गया था। जिसका सभी ने लुत्फ उठाया है। ऐसे आयोजनों में सियासत और टीका टिप्पणी नहीं होनी चाहिए।

 

loading...
शेयर करें