मशरूम लेडी को 8 मार्च को मिलेगा राष्ट्रपति भवन में नारी शक्ति पुरस्कार

0

देहरादून। वैसे तो मशरूम की फसल को नगदी की श्रेणी में रखते है लेकिन यह अभी भी आम फसलों की भांति लोगों तक पहुंच नहीं बना पाई। वहीं दिव्या रावत की लड़की मशरूम क्रांति के जरिये नाम कमा रही है। दिव्या को इस कार्य के कारण नारी शक्ति पुरस्कार 2016 से नवाजा जाएगा। आठ मार्च को महिला दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति भवन में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में उन्हें यह पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। पुरस्कार के रूप में उन्हें एक लाख रुपये की धनराशि और प्रशस्ति पत्र से नवाजा जायेगा।

मशरूम

मशरूम लड़ी रिवर्स माइग्रेशन को गति देने के प्रयास में जुटी हैं

चमोली जिले के कोट कंडारा गांव से अपने अभियान की शुरूआत करने वाली दिव्या इसके जरिये ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार बढ़ाने और रिवर्स माइग्रेशन को गति देने के प्रयास में जुटी है। उनके कार्यों को देखते हुए महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्रालय ने महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में उनका चयन नारी शक्ति पुरस्कार के लिए किया है। साथ ही वो युवाओं को मशरूम को पैदा करने की हुनर भी सिखा रही हैं।

loading...
शेयर करें