IPL
IPL

ये मेरा इंडिया…एक हफ्ते में ही चोरी हो गई महामना की टोटियां

वाराणसी। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में लोगों को 22 जनवरी के दिन महामना एक्सप्रेस ट्रेन का तोहफा तो दे दिया लेकिन ट्रेने के दूसरे फेरे के बाद ही ट्रेन की खूबसूरती बढ़ाने वाली चीजें गायब होने लगी हैं। महामना एक्सप्रेस कई मायनों में आम ट्रेनों से बिल्कुल अलग है। इस ट्रेन में फायरप्रूफ बोगियां हैं तो बॉयो टॉयलेट की सुविधा भी है। इलेक्ट्रॉनिक विंडो, कोच अटेंडेंट को बुलाने के लिए बटन, LED टीवी और म्यूजिक सिस्टम के साथ-साथ पढ़ाई के लिए हर केबिन में एलईडी रीडिंग लाइट भी लगी है।

यात्री कुछ ज्यादा ही इस ट्रेन पर फिदा हो गए है। यात्रा को यादगार बनाने के लिए उसके सामनों को भी निकाल ले जा रहे हैं। गुरुवार को गाड़ी दिल्ली से बनारस दूसरी बार ही आयी। पर, साफ-सफाई के लिए यार्ड पहुंची तो उसकी आधा दर्जन से अधिक टोटियां गायब मिलीं। इसके बाद पूरे ट्रेन की तलाशी हुई। जिसमें कुछ और सामान भी गायब थे।सफाई कर्मचारियों ने अधिकारियों को सूचना दी की स्लीपर क्लास और सेकेंड एसी से आधा दर्जन टोटियां गायब हैं। इसकी सूचना पर अधिकारियों ने पूरी टे्रन की जांच का आदेश दिया। कर्मचारियों को अन्य साज-सज्जा के सामान भी टूटे मिले है।

Mahamana-seven

महामना एक्सप्रेस पहुंची 35 मिनट पहले

 

महामना प्रधानमंत्री की प्राथमिकताओं की ट्रेन है। इसके लिए बोर्ड भी लापरवाही नहीं करना चाहता है। यह ट्रेन दिल्ली से बनारस पहली बार 26 जनवरी को 25 मिनट लेट पहुंची। इसकी सूचना पर बोर्ड ने संबंधित अफसरों से जवाब-तलब कर लिया। नतीजा यह रहा कि गुरुवार को दूसरे फेरे में यह गाड़ी तय समय से 35 मिनट पहले ही पहुंच गई। चीफ एरिया मैनेजर उत्तर रेलवे रविप्रकाश चतुर्वेदी का कहना है कि गाड़ी में सामान गायब होने की सूचना मिली है। जांच की जा रही है। नए सामान जल्द लगा दिए जाएंगे। गाड़ी प्रधानमंत्री की प्राथमिकताओं में है। ऐसे में गाड़ी को सही समय पर चलाया जाएगा। इसमें कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button