महाराष्ट्र में बढ़ सकता है लॉकडाउन, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दिए ये… बड़े संकेत

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लॉकडाउन नहीं खोलने के संकेत दिए हैं। महाराष्ट्र के मुंबई और पुणे जैसे मुख्य हॉटस्पॉट में लॉकडाउन जारी रह सकता है, हालांकि एक बार लॉकडाउन 4.0 खत्म होने के बाद यहां कुछ रियायतें जरूर मिलेंगी।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगले 15 दिन और भी ज्यादा खतरनाक हो सकते हैं, इस समय हर नागरिक को कोरोना के खिलाफ लड़ाई में ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि एक बार केंद्र सरकार की ओर से लॉकडाउन पर नई गाइडलाइंस जारी हो जाए तो राज्य सरकार भी अपने नए नियम और दिशा-निर्देशों की सूची जारी करेगी।
उद्धव ठाकरे ने बताया कि राज्य में कोरोना के मामले अब नियंत्रण में हैं और मृत्युदर का आंकड़ा भी नीचे आया है लेकिन अभी प्रतिबंधों में छूट नहीं दे सकते क्योंकि ये हमारे लिए उल्टा भी पड़ सकता है।
उद्धव ठाकरे ने बताया कि चीन और केरल में कोरोना की दूसरी लहर देखी गई है इसलिए इस बात की उम्मीद लगाई जा सकती है कि मामलों में कमी आने या रोक लगने पर वायरस का दोबारा संक्रमण भी शुरू हो सकता है। सवाल ये पैदा होता है कि क्या भारत के अन्य राज्यों में कोरोना का दोबारा संक्रमण फैल सकता है, अगर हां तो ये कितना तेज होगा।

सीएम ठाकरे ने कहा कि हर कोई कोरोना के साथ जीने की बात कह रहा है लेकिन कैसे जीना है, क्या करना है इस पर कोई राय नहीं दे रहा है। उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि इस समय मीडिया मुख्य भूमिका में है और आम नागरिक तक कोरोना के प्रति जागरुकता फैलाने का काम करे।

बृहंमुंबई नगर पालिका के प्रमुख आई एस चहल का कहना है कि राज्य में कोरोना के मामले काफी ज्यादा है लेकिन एक तथ्य जरूर देखा जाना चाहिए कि कोरोना से ठीक होने वाले मरीज भी ज्यादा है और असिम्पटोमैटिक लोगों को होम क्वारंटीन करने की सलाह दी गई है।

सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि राज्य ने पिछले दो महीने में कोरोना संक्रमित मामलों पर नियंत्रण किया है और कोविड-19 मरीजों की संख्या को लेकर हर विभाग में पारदर्शिता है। मजूदरों के पलायन पर उद्धव ठाकरे का कहना है कि मजदूरों के ट्रांसपोर्टेशन के लिए राज्य ने बहुत ऊर्जा खर्च की है।

Related Articles