गुड़गांव : 6 महीने की बच्ची को ऑटो से बाहर फेंककर मां के साथ किया गैंगरेप

0

गुड़गांव। काइम के मामले में सबसे आगे रहने वाले गुड़गांव में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर आपका खून खौल जाएगा। एक ऑटो ड्राइवर ने अपने साथियों के साथ मिलकर पहले छह महीने की मासूम बच्ची को ऑटो के बाहर फेंक दिया और उसके बाद महिला के साथ गैंगरेप किया। बात अभी यहीं खत्म नहीं हुई।

महिला का गैंगरेप

महिला का गैंगरेप करने के लिए बदमाशों ने उसकी ठह महीने की बच्ची को फेंका

23 साल की महिला ने पति के साथ गांव बासकुसला में रहती है। 29 मई की रात पति का पड़ोसी से झगड़ा हो गया था। रात को पति के ड्यूटी पर जाने के बाद पड़ोसियों ने फिर  महिला के साथ झगड़ा शुरू कर दिया। इस पर महिला अपनी 6 महीने की बेटी को लेकर मायके जाने के लिए आईएमटी चौक आ गई। यहां पर उसने एक ट्रक वाले से लिफ्ट ली। ट्रक चालक ने उससे छेड़छाड़ की तो वह खेड़कीदौला टोल के पास उतर गई। इसके बाद उसने टोल से ऑटो पकड़ा। ऑटो में पहले से तीन युवक बैठे हुए थे।

महिला ने अपनी आपबीती बताते हुए कहा कि ऑटो में बैठते ही उन्होंने मुझे छेड़ना शुरू कर दिया। मैं बुरी तरह से डर गई, मेरी गोद में बैठी 6 महीने की बच्ची घबराकर रोने लगी। उन जालिमों ने मेरी बेटी को मुझसे छीना और ऑटो से बाहर फेंक दिया। इसके बाद तीनों मुझे एक सुनसान जगह ले गए मेरा रेप किया और फिर भाग गए।

पुलिस ने की मामले को दबाने की कोशिश

इसके बाद किसी तरह महिला अपने मायके पहुंची और देर रात आईएमटी थाने में शिकायत दी गई। लेकिन पहले पीड़िता ने सिर्फ अपनी बच्ची की हत्या का मामला दर्ज कराया था। बदनामी के डर से उसने अपने साथ हुए गैंगरेप के बारे में पुलिस को कुछ नहीं बताया। फिर दो दिन बाद उसने डरते-डरते पति को रेप की बात बताई इसके बाद केस में गैंगरेप की धारा जोड़ी गई।

पुलिस ने इस मामले में लापरवाही दिखाते हुए मामला में FIR दर्ज नहीं किया और इसे दबाने की कोशिश की। महिला और उसके पति ने आला अधिकारियों के पास जाकर गुहार लगाई उसके बाद FIR दर्ज हुई।

loading...
शेयर करें