IPL
IPL

‘माई सिटी माई प्राइड’ ऐप हर जरूरत में देगा साथ

लखनऊ। अब राजधानीवासियो को सरकारी विभागों में जुड़ी योजनाओं पुलिस व मेडिकल हेल्प, ट्रैफिक हेल्प, जनसुविधा आदि की जानकारी के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। अब बस एक क्लिक करने पर ही शहर से जुड़ी हर जानकारी उन्हें अपने स्मार्ट मोबाइल फोन पर मिल जाएगी। जिलाधिकारी राजशेखर की पहल पर प्रशासन ने शहर को हैप्पी एंड हैपनिंग युक्त दर्शाने के लिए माई सिटी माई प्राइड ऐप लॉन्च किया है। इसके लिए आपको अपने स्मार्ट फोन पर जिला प्रशासन द्वारा सोमवार को लॉन्च ‘माई लखनऊ माई प्राइड’ ऐप डाउन लोड करना होगा। इसकी लॉन्चिंग सोमवार को कलेक्ट्रेट परिसर स्थित सभागार में आयोजित एक कार्यक्रम में जिलाधिकारी राजशेखर ने की।

माई सिटी माई प्राइड

माई सिटी माई प्राइड में होंगे 11 अलग-अलग फोल्डर

 

इस मौके पर डीएम ने बताया कि इस ऐप में शासन द्वारा संचालित योजनाओं के साथ ही जिला प्रशासन और संबद्ध जिला स्तरीय विभागों से जुड़ी सभी जानकारियों के साथ शान-ए-अवध के इतिहास से जुड़ी फोटो का अनूठा समागम होगा। इस ऐप को स्मार्ट फोन पर अपलोड कर 11 अलग-अलग फोल्डर में दर्ज सूचनाओं के बारे में लोगों को सभी तरह की जानकारी आसानी से उपलब्ध हो सकेगी। सही मायनों में शहरवासियों के लिए यह एक तरह का प्लेटफार्म ऑफ इन्फारमेंशन साबित होगा।

आसानी से करें डाउनलोड

 

ऐप को खोलने पर सबसे पहले इसमें शहर से जुड़ी जानकारी और ऐतिहासिक धरोहर की जानकारी मिलेगी। इसके बाद विभिन्न विभागों से संबंधित एक आईकॉन नजर आएगा। इसमें पर्यटन, पब्लिक, हेल्थ, नगर निगम, सरकार की कल्याणकारी स्कीम, जन शिकायत, इमरजेंसी, लखनऊ महोत्सव, गंजिंग कार्निवॉल, के लिए भी अलग आईकॉन होगा। ऐप को किसी भी स्मार्ट मोबाइल पर आसानी से डाउनलोड किया जा सकेगा। बस प्ले स्टोर में जाकर माई सिटी माई प्राइड टाइप करना होगा। इसके बाद उपभोक्ता के मोबाइल पर एक एसएमएस जारी कर कोड नंबर दिया जाएगा। कोड डालते ही ऐप डाउनलोड हो जाएगा।

पीड़ित के मददगार होगा एप

 

इस ऐप से शहर की ट्रैफिक व्यवस्था के साथ प्रमुख सरकारी अस्पतालों की इमरजेंसी सेवा के बारे में जानकारी तमाम परेशानी से लोगों को बचा सकेगी। पुलिस विभाग से जुड़े सभी हेल्पलाइन नंबर व एसएसपी व पुलिस थानों के नंबर भी किसी भी परेशानी में पीड़ित के मददगार बनेंगे। नगर निगम के आईकॉन पर साफ सफाई, दूषित पेयजल आपूर्ति से लेकर रोड लाइट तक से जुड़ी परेशानी को सीधे संबंधित अफसर तक पहुंचाया जा सकेगा। इतना ही नहीं शहरी क्षेत्र में कब कौन से सांस्कृतिक आयोजन हो रहा इस बात की जानकारी भी ये अप आसानी से बताएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button