माघ मेले के लिए जिला प्रशासन ने कसी कमर

इलाहाबाद। माघ मेले के प्रथम स्नान पर भारी भीड़ को नियन्त्रित करने के लिए ट्रैफिक डायवर्जन लागू किया गया है। दो महीने से माघ मेले की तैयारी कर रहे जिला प्रशासन के लिए परीक्षा की घड़ी आ गई है। माघ मेला हमेशा से जिला प्रशासन के लिए चुनौती बनता है।

माघ मेला

माघ मेले का पहला स्नान 15 जनवरी को

माघ मेला का पहला स्ना‍न मकर संक्राति 15 जनवरी को है। इस दिन इला‍हाबाद में भारी भीड़ आने की उम्मीद है। जिसे नियन्त्रित करने के लिए जिला प्रशासन ने ट्रैफिक डायवर्जन लागू कर दिया है। सामान्य रूट को आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया है। शहर के कुछ मार्गों को बाहर से आने वाले स्नानर्थियों के लिए खोला गया है।

25 लाख लोगों के आने की उम्मीद
मकर संक्राति के अवसर पर बाहर से 25 लाख लोगों के आने की उम्मीद है। इससे शहर में जाम एक बड़ी समस्या बन सकता है। शहर को जाम से निजात दिलाने के लिए यातायात विभाग कमर कस कर तैयार हो गया है। शहर से संगम घाट तक जाने के लिए पैदल यात्रियों के लिए सुरक्षित मार्ग बनाया गये हैं। पैदल यात्रा करने वाले मार्ग पर गाडि़यों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।

भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक
ट्रैफिक डायवर्जन लागू करने के साथ ही शहर में भारी वाहनों के प्रवेश पर 16 जनवरी तक रोक लगा दी गई है। शहर में रहीवा और बांदा की ओर से आने वाले भारी माल वाहनों को घूरपूर थाना के गौहनिया से डायवर्ट कर दिया गया है। इसके अलावा जो वाहन इलाहाबाद से होते हुए वाराणसी की ओर जाएंगे उनको मेजा रोड के रास्ते मिर्जापुर की ओर डायवर्ट कर दिया गया है। वाराणसी से कानपुर जाने वाले भारी वाहनों को हंडिया-कोखराज बाइपास से कौशाम्बी जिले की ओर डायवर्ट किया गया है। राजधानी की ओर से आने वाले भारी वाहनों को प्रतापगढ़ और इलाहाबाद और प्रतापगढ़ के बीच से नवाबगंज से ही डायवर्ट कर दिया गया है। इस मार्ग से आने वाले वाहनों को हंडिया बाइपास से औराई-मिर्जापुर की तरफ से भेजा जाएगा। प्रतापगढ़ से आने वाले भारी वाहनों को इलाहाबाद शहर से रीवा और मिर्जापुर की ओर जाने वाले वाहनों को सोरांव से ही मोड़ दिया गया है। इन वाहनों को हंडिया बाइपास से औराई मिर्जापुर की ओर भेजा जाएगा।

जवान बुलाए गए
यातायात व्यवस्था को नियन्त्रित करने के लिए जिले के सिपाहियों के अलावा अगल-बगल के जिलों से सिपाही बुलाए गए हैं। जिला प्रशासन व्यवस्था को लेकर कोई कोताही नहीं बरत रहा है। जिला प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक पूरे सवा महीने चलने वाले मेले के दौरान आस-पास के जिलों से पुलिस फोर्स के अलावा पीएसी बल भी तैनात किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button