राम माधव ने कहा- जम्मू-कश्मीर में थी अफस्पा की जरूरत, इसलिए लिया गया ये निर्णय

0

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में हुई प्रेस कांफ्रेंस के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव व जम्मू-कश्मीर मामलों के प्रभारी राम माधव ने मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के हाल ही में मुंबई में दिए गए एक बयान के बाद कहा कि जम्मू-कश्मीर या उत्तर पूर्वी राज्यों में आ‌र्म्ड फोर्स स्पेशल पावर एक्ट (अफस्पा) को तब ही हटाया जाना चाहिए जब राज्य के हालातों में सुधार आ जाये। महबूबा ने मुंबई में कहा था कि हालात में सुधार के बाद अफस्पा को चरणबद्ध तरीके से हटाया जाना चाहिए।

माधव

 

माधव ने कहा- जम्मू-कश्मीर के कुछ क्षेत्रों में अभी भी अफस्पा जैसे कानून की है जरुरत

उन्होंने आगे कहा कि जम्मू-कश्मीर के कुछ क्षेत्रों में अफस्पा जैसे कानून इसलिए लगाए गए हैं, क्योंकि इनकी जरूरत है और यह बात बिलकुल राज्य सरकार पर निर्भर करती है कि उन्हें उन क्षेत्रों में अफस्पा की जरूरत है या नहीं।

इसके साथ ही, माधव ने कश्मीर में दो संसदीय सीटों पर भाजपा के चुनाव लड़ने या पीडीपी का समर्थन करने के सवाल पर कहा कि इस पर अंतिम फैसला राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ सलाह के बाद ही लिया जाएगा।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए माधव ने कहा कि संसदीय उपचुनाव के मुद्दे पर प्रदेश भाजपा व पीडीपी को साथ मिलकर बैठक करनी चाहिए थी, क्योंकि दोनों के गठजोड़ की राज्य में सरकार है। इस मुद्दे पर व्यापक विचार विमर्श करते हुए एक-दूसरे को संतुष्ट करना चाहिए था। अलगाववादियों की तरफ से चुनाव बहिष्कार संबंधी सवाल पर उन्होंने कहा कि यह कोई नई बात नहीं है। जब चुनाव होते हैं तो वे अक्सर ऐसी बातें करते हैं।

loading...
शेयर करें