लखनऊ में ‘परिवर्तन यात्रा’ नहीं ‘ध्यान बांटो यात्रा’ निकाली गयी

0

लखनऊ। शनिवार को भाजपा की समाप्त हुई ‘परिवर्तन यात्रा’ को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने ‘ध्यान बांटो यात्रा’ की संज्ञा दी है।

मायावती ने कहा कि अपने लोकसभा आमचुनाव की वादाखिलाफी पर से प्रदेश की जनता का ध्यान बांटने के लिए ही इन यात्राओं का आयोजन किया गया।

मायावती

मायावती ने लखनऊ में ‘परिवर्तन यात्रा’ को बताया ‘ध्यान बांटो यात्रा’

मायावती ने अपने बयान में कहा कि भाजपा ने इन यात्राओं में अपनी पूरी ताकत व संसाधनों को झोंक दिया और केंद्रीय मंत्रियों की पूरी फौज को पूरे तामझाम के साथ मैदान में उतारा है। इसके साथ ही कई स्थानों पर भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं भी शामिल हुए।

बावजूद इसके लोकसभा आमचुनाव की घोर वादाखिलाफी के बाद लोगों में इन यात्राओं के प्रति उत्साह की जबर्दस्त कमी देखी गई।

बसपा सुप्रीमो  ने कहा की इन यात्राओं में भाजपा के नेता व टिकटार्थियों एवं भाड़े पर लाए गए लोगों की ही भीड़ ज्यादा थी जबकि आमजनता की भागीदारी काफी कम।

क्योंकि उत्तर प्रदेश की जनता यह मानती है कि जिन वायदों के बल पर भाजपा को लोकसभा आमचुनाव में सफलता मिली थी, उसका एक चौथाई से भी कम इन्होंने काम किया है।

loading...
शेयर करें