रूस महिला एथलीट से ओलम्पिक गोल्ड से लेकर छीने गए सभी पदक

0

लुसाने। रूस की महिला एथलीट मारिया सेविनोवा से लंदन ओलम्पिक-2012 में जीता गया उनका 800 मीटर स्पर्धा का स्वर्ण पदक छील लिया गया है। खेल पंचाट न्यायालय (सीएएस) ने सेविनोवा के खिलाफ डोपिंग के एक मामले में शुक्रवार को यह आदेश पारित किया।

मारिया सेविनोवा

एथलीट मारिया सेविनोवा को पाया गया डोपिंग का दोषी

सीएएस ने मारिया सेविनोवा को 26 जुलाई, 2010 से 19 अगस्त, 2013 के बीच प्रतिबंधित पदार्थो के सेवन का दोषी पाया। परिणामस्वरूप इस अवधि में सेविनोवा द्वारा जीते गए सभी पदक उनसे छीन लिए गए हैं।

मारिया सेविनोवा ने इस अवधि में विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिप-2011 और यूरोपियन चैम्पियनशिप-2010 में भी स्वर्ण पदक जीते थे। विश्व चैम्पियनशिप-2013 में सेविनोवा द्वारा जीता गया कांस्य पदक भी उनसे छीन लिया गया है। इसके अलावा सीएएस ने सेविनोवा पर चार वर्ष का प्रतिबंध भी लगाया है। सेविनोवा पर यह प्रतिबंध 2015 से लागू होगा।

सीएएस ने अपने आदेश में कहा कि स्पष्ट सबूतों के आधार पर सेविनोवा को बार्सिलोना में हुए यूरोपियन चैम्पियनशिप-2010 और मॉस्को में हुए विश्व चैम्पियनशिप-2013 के दौरान डोपिंग का दोषी पाया है। परिणामस्वरूप उन पर 24 अगस्त, 2015 से चार वर्ष के लिए प्रतिबंधित किया जाता है और 26 जुलाई, 2010 से 19 अगस्त, 2013 के बीच उनके द्वारा जीते गए सभी पदक, प्रदान की गई इनामी राशि, मेडल और हिस्सा लेने के लिए दी गई राशि उनसे वापस ली जाती है।

गौरतलब है कि विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) की रिपोर्ट में भी सेविनोवा को डोपिंग का दोषी कहा गया था। रूस में डोपिंग के व्यापक सरकार प्रायोजित कार्यक्रमों का खुलासा करने वाली यूनिला स्टेपानोवा के आरोपों के बाद किए गए जांच के चलते सेविनोवा पर अस्थायी तौर पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। सेविनोवा ने 2013 से किसी प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं लिया है।

loading...
शेयर करें