#IPL10 : कोलकाता को हराकर मुंबई बनी आईपीएल-10 की दूसरी फाइनलिस्ट, छह विकेट दी मात

0

बेंगलुरु: बेंगलुरु के एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में शुक्रवार को खेले गए दूसरे क्वालीफायर मुक़ाबले में मुंबई इंडियंस ने कोलकाता नाइट राइडर्स को हराकर फाइनल में जगह बना ली है। इस मुकाबले में मुंबई ने कोलकाता द्वारा दिए गए 108 रनों के आसान से लक्ष्य को 14.3 ओवर में ही हासिल कर लिया। टीम के आलराउंडर बल्लेबाज कृनाल पांड्या ने विजयी चौका लगाकर टीम को जीत दिलाई।

 मुंबई इंडियंस

मुंबई इंडियंस ने कोलकाता को हराकर फाइनल में बनाई जगह

लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई इंडियंस की टीम शुरुआत अच्छी नहीं रही और टीम ने अपने तीन विकेट पॉवर प्ले के ओवरों में ही खो दिए। इन छह ओवेरों में टीम के शुरूआती तीन बल्लेबाज लेंडल सिमंस (3), पार्थिव पटेल (14) और अम्बाती रायडू (6) रन बनाकर पवेलियन लौट चुके थे लेकिन इसके बाद कप्तान रोहित शर्मा ने कृनाल पांड्या के साथ मिलकर टीम को जीत की दहलीज तक पहुँचाया।

रोहित और कृनाल के बीच चौथी विकेट के लिए 6.4 ओवरों में 8.10 के रनरेट से 54 रनों की साझेदारी हुई। एक समय ऐसा  लग रहा था कि ये दोनों बल्लेबाज ही टीम को जीत दिलाने में कामयाम रहेंगे लेकिन 13वें ओवर की दूसरी गेंद पर रोहित शर्मा कुल्टर नाइल का शिकार हो गए और अंकित राजपूत को कैच दे बैठे। उन्होंने 24 गेंदों में एक चौके और एक छक्के की मदद से 26 रनों की पारी खेली।

हालांकि इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरे किरेन पोलार्ड ने कृनाल के साथ मिलकर टीम को शानदार जीत दिलाई। पोलार्ड सात गेंदों में 9 जबकि कृनाल 30 गेदों में 45 रन बनाकर नाबाद लौटे। कृनाल ने अपनी इस मैच जिताऊ पारी में आठ चौके लगाए।

इसके पहले टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी कोलकाता की टीम पूरे 20 ओवर भी नहीं खेल सकी थी और 18.5 ओवरों में 107 रन बनाकर आल आउट हो गई थी। टीम के लिए सबसे ज्यादा रन सूर्य कुमार यादव ने बनाए थे जिन्होंने 25 गेंदों में दो चौकों व एक छक्के की मदद’ से 31 रन बनाए थे।

कोलकाता के बल्लेबाज शुरुआत से ही मुंबई इंडियंस के गेंदबाजों के सामने जूझते नजर आए। टीम का पहला विकेट क्रिस लीन के रूप मे गिरा , जिन्हे दूसरे ओवर में जसप्रीत बुमराह ने चलता किया। वे चार रन बनाकर पोलार्ड के हाथों कैच आउट हुए।

इसके बाद बल्लेबाजी करने के लिए उतरे कप्तान गौतम गंभीर ने क्रीज़ पर मौजूद सुनील नारायण के साथ मिलकर पारी को संभालने की कोशिश की लेकिन पांचवे ओवर की चौथी गेंद पर नारायण का विकेट गिर गया। यह विकेट कर्ण शर्मा के खाते मे गया। नारायण 10 रन बनाकर आउट हुए। इस समय टीम का स्कोर मात्र 24 रन था।

दो विकेट जल्द गिरने के बाद गंभीर का साथ देते हुए बल्लेबाजी की कमान रॉबिन उथप्पा ने संभाली। हालांकि मुंबई की गेंदबाजी के सामने वह भी कुछ खास न कर सके और मात्र एक रन बनाकर अगले ही ओवर मे बुमराह का शिकार हो गए।

कोलकाता ने पावर प्ले के छहओवरों मे कोलकाता का स्कोर तीन विकेट के नुकसान पर 25 रन था। अभी टीम का स्कोर 31 रन तक पहुंचा ही था कि सातवाँ ओवर फेंक रहे कर्ण शर्मा ने पाँचवी गेंद पर गंभीर और छठी गेंद पर कॉलिन ग्रांडहोमे का शिकार कर कोलकाता को बैकफूट पर ढकेल दिया।

हालांकि इसके बाद इशांक जग्गी और सूर्यकुमार यादव ने पारी को संभालते हुए छठे विकट के लिए 56 रनों की साझेदारी की लेकिन जब यह महसूस हो रहा था कि दोनों बल्लेबाज टीम की डगमगाती नैया को उस पार लगाने में कामयाब रहेंगे। उसी वक्त कर्ण शर्मा ने जग्गी को जॉनसन के हाथों कैच आउट कराकर टीम को छटा झटका दे दिया। वे 87 के कुलयोग पर 28 रनों पर आउट हुए। जग्गी के आउट होने के बाद बल्लेबाजी के लिए उतरे पियूष चावला भी कुछ ख़ास कर न सके और 94 के कुल योग पर दो रन बनाकर आउट हो गए।

इसके बाद कोई भी बल्लेबाज मैदान पर टिक न सका और पूरी टीम 107 के कुल योग पर पवेलियन लौट गई। कुल्टर नाइल 6, सूर्यकुमार 31, और अंकित राजपूत चार रन बनाकर आउट हुए।

मुंबई इंडियंस की ओर से कर्ण शर्मा ने चार, बुमराह ने तीन, जॉनसन ने दो जबकि मलिंगा ने एक बल्लेबाज को चलता किया। कर्ण शर्मा को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए मैन ऑफ़ द मैच का पुरस्कार दिया गया। उन्होंने चार ओवरों में मात्र 16 रन देकर चार बल्लेबाजों को चलता किया।

अब आईपीएल-10 का फाइनल मुकाबला स्टीवन स्मिथ के नेतृत्व वाली राइसिंग पुणे सुपरजाइंट्स और मुंबई इंडियंस के बीच 21 मई को हैदराबाद में खेला जाएगा।

 

loading...
शेयर करें