राष्ट्रपति चुनाव को लेकर मुलायम ने लिया बड़ा फैसला, चुनाव से पहले ही बिखर गया विपक्ष

0

लखनऊ| समाजवादी पार्टी के संस्थापक और पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने भी विपक्ष से हटकर राष्ट्रपति पद के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को खुला समर्थन देने का ऐलान किया है।। उन्होंने सोमवार को भरोसा जताया कि देश को बेहतर राष्ट्रपति मिलेगा। इससे पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी कोविंद को अपना समर्थन दे चुके हैं।

मुलायम सिंह यादव

मुलायम सिंह यादव ने कहा कि सौ दिन में किसी के काम का आकलन नहीं हो सकता

संरक्षक ईद के मौके पर लखनऊ में टीले वाली मस्जिद पहुंचे मुलायम सिंह यादव ने कहा कि चुनाव में जो नतीजे होंगे, सबके सामने होंगे। मुझे भरोसा है कि देश को बेहतर राष्ट्रपति मिलेगा। इस बार के चुनाव में लोग दलगत राजनीति से ऊपर उठेंगे। मस्जिद में मुलायम सिंह यादव लोगों को बधाई दी है।

गौरतलब है कि रामनाथ कोविंद हाल ही में एक बयान में कह चुके हैं कि वह इस्लाम और ईसाई धर्म को बाहरी देश के धर्म मानते हैं। कांग्रेस सहित 17 पार्टियां जहां कोविंद को सांप्रदायिक ताकतों का उम्मीदवार मानती हैं और उनके खिलाफ धर्मनिरपेक्ष ताकतों की उम्मीदवार के रूप में पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार को मुकाबले में उतारा है, वहीं विपक्षी खेमे से जनता दल (युनाइटेड) और सपा ने कोविंद को समर्थन देने का ऐलान किया है। इस बात को लेकर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और जद (यू) में बयानबाजी तेज हो गई है। सवाल यह है कि क्या राजद प्रमुख लालू प्रसाद अपने समधी मुलायम को मीरा कुमार का समर्थन के लिए मना पाएंगे?

मुलायम ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के सौ दिन के काम पर कहा, “सौ दिन में किसी के काम का आकलन नहीं हो सकता।” साथ ही उन्होंने योगी सरकार के कामकाज को लेकर विरोधी दलों ने सवालों पर कहा, “सूबे में नई सरकार है। इस सरकार को कम से कम छह महीने का समय दिया जाना चाहिए। छह महीने के बाद योगी सरकार के काम पर कोई बयान देना उचित होगा।”

मुलायम ने रविवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास में रामनाथ कोविंद के सम्मान में आयोजित रात्रिभोज में शिरकत की थी। साथ ही वह 20 जून की रात को भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्री आवास पर भोजन की मेज पर थे। वहां दोनों के बीच लंबी बीतचीत भी हुई थी।

loading...
शेयर करें