सीएम योगी का बड़ा ऐलान: सद्भावना मंडप में मुस्लिम लड़कियों की कराएंगे शादी, देंगे मेहर

0

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्‍यनाथ की छवि हमेशा से हिंदुत्‍ववादी की रही है। लेकिन जबसे उन्‍होंने प्रदेश की सत्‍ता संभाली है उन्‍होंने सबका साथ सबका विकास करने की ठानी है। नए फैसले में सीएम योगी ने ऐलान किया है कि मुस्लिम लड़कियों की शादी में मेहर देने की योजना लाई जा रही है। ऐसा करके योगी सरकार ने मुस्लिम कार्ड खेला है।

मुस्लिम लड़कियों की शादी में मेहर

मुस्लिम लड़कियों की शादी में मेहर देना अच्‍छी बात

अल्पसंख्यक विभाग की समीक्षा बैठक में योगी ने मुस्लिम लड़कियों की शादी में मेहर देेेनेके प्‍‍‍‍‍लान को योगी ने हरी झंडी दिखा दी है। इसके लिए सामूहिक शादियों का आयोजन कर सरकार मेहर की रकम के रूप में बेटियों की शादी में मदद करेगी।

योगी का सद्भावना मंडप सरकार देगी मेहर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को निराश्रित मुस्लिम बेटियों की खास चिंता है। कल्याण मंडप के तर्ज पर कराएगी योगी सरकार शादियां। गरीब निराश्रित मुस्लिम लड़कियों की शादी के लिए एक योजना बनाई जा रही है। इस योजना के तहत राज्य सरकार देगी लड़के वालों की तरफ से लड़की के परिवार को मेहर। मुस्लिम धर्म में लड़के वाले देते हैं शादी करने के लिए लड़की को मेहर।

तैयार किया जा रहा है खाका

प्रदेश के अल्पसंख्यक विभाग की समीक्षा बैठक में योगी ने इस प्लान को हरी झंडी दिखा दी है। इसके लिए खाका तैयार किया जा रहा है हर साल लगभग 100 शादियां कराने का टारगेट रखा गया है। सद्भावना मंडप में होंगी ये शादी। यही नहीं एक दूसरी योजना के तहत बीपीएल वर्ग के परिवार में 2 पुत्रियों की शादी के लिए 20,000 रुपये दिए जाएंगे।

तीन तलाक को लेकर राज्‍य सरकार रखेगी पक्ष

सीएम ने कहा की ट्रिपल तलाक पर स्पष्ठ तौर पर रखे सरकार अपना पक्ष। इसके लिए एक कमेटी का गठन हुआ है जिसमें रीता बहुगुणा जोशी मोहसिन रजा और बाकी महिला मंत्री शामिल है। ये कमेटी संबंधित महिला संगठनों से भी राय लें, इसके अलावा तमाम पीड़ित मुस्लिम महिलाओं से भी चर्चा करें। उच्च न्यायालय में होने वाली सुनवाई में राज्य सरकार भी अपना मजबूत पक्ष रखना चाहती है।

मदरसों के अधुनिकरण को लेकर बड़ा कदम

मुस्लिम छात्रों के भविष्य को लेकर सरकार गंभीर दिखना चाहती है। समीक्षा बैठक में योगी ने खासतौर से मुस्लिम छात्रों को मुख्यधारा में शामिल करने के लिए मदरसों के आधुनिकरण पर जोर दिया। उत्तर प्रदेश के 19,213 मदरसों का आधुनिकरण होगा। मदरसों के आधुनिकरण के लिए पाठ्यक्रम में बदलाव होगा। हिंदी अंग्रेजी गणित और विज्ञान पढ़ाया जाएगा। इसके संदर्भ में जल्द बैठक बुलाई जाएगी। पुराने मदरसों के आधुनिकरण के लिए ये बैठक होगी। जब तक ये प्रक्रिया पूरी नहीं होती तब तक नए मदरसों को नहीं मिलेगी मान्यता।

छात्रों के खाते होंगे आधार से लिंक

उत्तर प्रदेश के मदरसों में छात्रों को मिल रही है सरकार से मदद को अब आधार से जोड़ा जाएगा। कक्षा एक से पांच तक के छात्र को मिलते है 1,000 रूपये, छठी से आठवीं तक के बच्चों को मिलते है 4,000 रूपये, और नौवीं से दसवीं के बच्चों को मिलते हैं 6,000 रूपये। अब सभी छात्रों के खातों को आधार से जोड़ा जाएगा। उत्तर प्रदेश में 6,87,728 छात्रों को मदद दी जाती है, 3,46,177 को धनराशि मिल चुकी है। अब सभी छात्रों को मिल रही धनराशि को आधार से जोड़ाकर भुगतान किया जाएगा।

वक़्फ़ में हुए घपलों की जांच

सीएम ने वक्फ बोर्ड में हो रहे भ्रष्टाचार पर नकेल कसने के लिए सकती करने के आदेश दिए हैं। सेंट्रल वक़्फ़ बोर्ड ने पहले ही जांच की मांग की है। जिसकी मंज़ूरी राज्य सरकार ने दे दी है। बोर्ड के तहत ली गई जमीन और उन की बिक्री की विस्तार में होगी जांच।

loading...
शेयर करें