मेघालय के बाजार में धमाका, छह जख्‍मी

विलियमनगर। मेघालय के विलियमनगर में आज हुए एक विस्‍फोट में करीब छह लोग घायल हो गए। यह विस्‍फोट विलियमनगर के बाजार इलाके में हुआ है। पुलिस के अनुसार, यह धमाका एक वाइन शॉप में दोपहर करीब 1.15 बजे हुआ। मेघालय के गारो हिल में इलाके में सक्रिय उग्रवादी संगठन गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी (GNLA) इस विस्‍फोट के लिए जिम्‍मेदार है।

मेघालय

मेघालय की नई मुश्किल

इससे पहले बीते साल 21 अप्रैल की देर रात शिलांग में बम विस्‍फोट की घटना सामने आई थी। साउथ गारो हिल्स जिले में हुए इस धमाके पर पांच पुलिसकर्मी घायल हुए थे। उस धमाके की जिम्‍मेदारी भी गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी (जीएनएलए) के उग्रवादियों ने ली थी।

इस हमले में जिन पुलिसवालों को निशाना बनाया गया था, वे गारो हिल्स में उग्रवाद विरोधी अभियान का हिस्सा रहे हैं। माना जा रहा था कि उग्रवादियों ने बदला लेने के मंसूबे से यह विस्‍फोट किया है।

गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी के उग्रवादियों ने ही बीते साल दो मार्च को मेघालय के एक पेट्रोल पम्‍प पर धमाका किया था। उस धमाके में दो लोग जख्‍मी हुए थे। इस धमाके में देसी बम का इस्‍तेमाल किया गया, जबकि इसके बाद 21 अप्रैल को हुए धमाके में आईईडी का इस्‍तेमाल किया गया है।

गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी (जीएनएलए) सरकार विरोधी गतिविधियों में भी शामिल रही है। बीते छह सितम्‍बर को जीएनएलए ने गारो हिल्स इलाके में सिलसिलेवार बम धमाकों को अंजाम देने की धमकी दी थी।

जीएनएलए ने एक बयान में कहा था कि हम गारो हिल्स के सभी पांच जिलों में कांग्रेस दफ्तर समेत सभी सरकारी दफ्तरों में सिलसिलेवार धमाके करेंगे।

गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी का गठन साल 2009 में किया गया था। मेघालय के पश्चिमी इलाके में अलग प्रदेश गारोलैण्‍ड के लिए यह संगठन बनाया गया। इस संगठन की मुख्‍य गतिविधियों में हत्‍या, लूट, डकैती शामिल है। हैरत की बात यह कि गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी का गठन मेघालय के एक पूर्व डीजीपी ने किया है। पकचारा आर संगमा उर्फ चैम्पियन संगमा इस संगठन का अगुवा है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button