IPL
IPL

मेलबर्न वनडे: जीत के साथ-साथ सीरीज बचाने का होगा दबाव

नई दिल्‍ली। पहली बार टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया में कोई द्विपक्षीय वनडे सीरीज खेल रही है और पांच  मैचों की सीरीज के शुरुआती 2 मैच में 300 से ज्यादा का स्कोर करने के बाद भी उसे हार मिली। अब सीरीज में अपनी चुनौती बनाए रखने के लिए धोनी की अगुवाई वाली टीम को मेलबर्न वनडे में जीत हासिल करनी ही होगी।

india-vs-australia

मेलबर्न वनडे में टीम इंडिया को करनी होगी मेहनत 

सीरीज का तीसरा मैच रविवार को मेलबर्न में भारतीय समयानुसार सुबह 8:50 से खेला जाएगा। सीरीज में भारतीय टीम की ओर से बल्लेबाजों ने अब तक बेहद शानदार खेल दिखाया है और कंगारू गेंदबाजों की क्लास लेते हुए बड़े स्कोर खड़े किए। लेकिन गेंदबाज दोनों मैच को मिलाकर अभी तक 10 विकेट भी नहीं झटक सके हैं।

भारतीय गेंदबाजों को करनी होगी मेहनत

भारत 300 से ज्यादा का लक्ष्य देने के बाद लगातार दो मैचों में हार का मुंह देखने वाली वनडे की तीसरी टीम है। इससे पहले वेस्टइंडीज को भारत के ही हाथों ऐसी हार देखनी पड़ी थी। अब तक सीरीज में जिस तरह की पिच देखने को मिल रही है उससे लगता है कि मेलबर्न में भी सपाट पिच हो सकती है। भारतीय गेंदबाजों को विकेट के लिए खासी मशक्कत करनी होगी।

कप्तान धोनी पर दबाव बढ़ा, धवन के खराब फॉर्म ने बढ़ाई चिंता

अगर जिम्बाब्वे के खिलाफ सीरीज को छोड़ दें तो वनडे में भारतीय टीम ने बांग्लादेश और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज गंवाई हैं। धोनी की कप्तानी में लगातार तीसरी सीरीज हार का खतरा मंडरा रहा है। कप्तान धोनी के लिए भी मुश्किलें बढ़ी हैं, खुद उनकी बल्लेबाजी फॉर्म गायब है। बेहतरीन फिनिशर कहे जाने वाले धोनी के हेलिकॉप्टर शॉट अब उड़ान नहीं भर पा रहे हैं। धोनी को कप्तान के रूप में अपनी साख को फिर स्थापित करने की जरूरत आ गई है।

शिखर धवन का खराब प्रदर्शन

वर्ल्ड कप के दौरान बेहतरीन फॉर्म दिखाने वाले बाएं हाथ के ओपनर शिखर धवन खराब फॉर्म में चल रहे हैं। धवन ने पिछले 13 मैचों में एक शतक नहीं जड़ा है। उन्होंने अपना पिछला शतक विश्व कप में आयरलैंड के खिलाफ हैमिल्टन में लगाया था।

पिछले 13 मैचों में आठ उपमहाद्वीप में खेले गए हैं जिसमें उनकी औसत 29.07 की है और स्ट्राइक रेट 79.91 की है जो एक ओपनर के लिहाज से अच्छी तो नहीं कही जा सकती।

मेलबर्न वनडे में टीम इंडिया में हो सकता है बदलाव

मेजबान ऑस्ट्रेलिया को अपने घर में नवंबर, 2014 में आखिरी बार हार मिली थी। वे अपने घर में लगातार 16 मैचों में अजेय रहे हैं और वनडे में सबसे लंबे समय तक अपने घर में अजेय रहने के रिकॉर्ड से सिर्फ एक मैच दूर हैं और कंगारू मेलबर्न में इस इंतजार को खत्म करना चाहेंगे।

नए गेंदबाज पर करेंगे भरोसा

मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने अपने घर में लगातार 16 मैच जीतने का रिकॉर्ड बनाया है ऐसे में टीम इंडिया को मेलबर्न में कंगारुओं को रोकने में खासी मशक्कत करनी होगी। लगातार 2 मैच हारकर सीरीज में पिछड़ने वाली टीम इंडिया को वापसी के लिए गेंदबाजों के भरोसे होना होगा जो अब तक सीरीज में फेल रहे हैं। अब यह देखने वाली बात होगी कि इस निर्णायक मैच में धोनी अपने पुराने आक्रमण के साथ उतरते हैं या किसी नए गेंदबाज पर भरोसा जताते हैं।

हो सकता है बदलाव

धोनी ने अगले मैच में ऑलराउंडर रिषि धवन को लेने की बात नकार चुके हैं साथ ही वह अपने 2 स्पिनर्स के साथ फिरकी आक्रमण में भी कोई फेरबदल नहीं करना चाहते हैं। ओपनर शिखर धवन को एक मौका और भी मिल सकता है। ऐसे में उम्मीद यही है कि अगले मैच में भी पुरानी टीम उतरे। धोनी अगर बदलाव करते भी हैं तो वह तेज गेंदबाज उमेश यादव के रूप में होगा और उनकी जगह कप्तान के पसंदीदा गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को रख सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button