मॉनसून के रोमांटिक सीजन में केरल की खूबसूरती का उठाएं मजा

0

गर्मियों की छुट्टियों में अगर कहीं घूमने की प्लानिंग कर रहें हैं तो इसके लिए बेस्ट प्लेस है केरल। मॉनसून में केरल की खूबसूरती कई गुना बढ़ जाती है। आपको बता दें कि केरल को ‘भगवान के अपने देश’ के नाम से भी जाना जाता है। मॉनसून के सीजन में चारों तरफ हरियाली, ठंडी हवाएं और बादलों से ढका सनसेट मौसम को और रोमांटिक बना देता है।

मॉनसून

मॉनसून के सीजन में केरल की खूबसूरती का लें मजा

ओनम का त्योहार

मॉनसून के सीजन में ही यहां 10 दिनों तक फसलों का त्योहार ओनम मनाया जाता है। इस दौरान केले के पत्तों पर बेहद टेस्टी वेजिटेरिअन खाना सर्व किया जाता है। आप चाहें तो किसी लोकल रेस्तरां में जाकर भी इस खाने का लुत्फ उठा सकते हैं।

वयनाड की प्राकृतिक खूबसूरती

केरल के वयनाड स्थित खूबसूरत पहाड़, प्लांटेशन, रेनफॉरेस्ट और वॉटरफॉल किसी का भी दिल जीत सकते हैं। खासतौर पर बारिश के मौसम में तो इस जगह की खूबसूरती देखते ही बनती है। साथ ही वयनाड का टूरिज्म डिपार्टमेंट भी हर साल जुलाई में वार्षिक मॉनसून कार्निवल का आयोजन करता है जिसमें गांव की सैर, रेन ट्रेक और लोकल स्पोर्ट्स जैसे मड फुटबॉल और तीरंदाजी शामिल है।

आयुर्वेदिक थेरपी

केरल में एक से बढ़कर एक स्पा और वेलनेस सेंटर्स हैं। ऐसे में अपनी सभी समस्याएं और स्ट्रेस भूलने के लिए आप इन वेलनेस सेंटर्स का प्रयोग कर सकते हैं। आयुर्वेद में भी इस बात का जिक्र है कि मॉनसून का ठंडा और सुहावना मौसम शरीर के कायाकल्प के लिए उपयुक्त है। आप इन वेलनेस सेंटर्स में बुकिंग करवा कर स्पा, ऑयल बेस्ड थेरपी, योग और बैलेंस डायट का फायदा उठा सकते हैं जिससे आपका तन और मन दोनों ताजगी का अनुभव करेंगे।

स्नेक बोट रेस

जुलाई से सितंबर के बीच केरल में वॉटर स्पोर्ट्स का सीजन रहता है। इस दौरान अलप्पुजा के बैकवॉटर्स में स्नेक बोट रेस का आयोजन होता है। इनमें सबसे फेमस है नेहरू ट्रोफी बोट रेस जिसका आयोजन हर साल अगस्त के दूसरे सप्ताह में होता है। इन रेस का सबसे बड़ा आकर्षण होता इसकी बोट्स जो करीब 30 मीटर लंबी और सांप की आकृति की होती हैं।

loading...
शेयर करें