मोदी की सुरक्षा में आठ साल की बिल्‍लो भी

0

लखनऊ। मोदी की सुरक्षा में आठ साल की बिल्‍लो भी है। प्रधानमंत्री मोदी 22 जनवरी को लखनऊ आ रहे हैं लेकिन बिल्‍लो अभी से मुस्‍तैद है। बाबा साहेब भीमराव अम्‍बेडकर केन्‍द्रीय विश्वविद्यालय (बीबीएयू) के उस रूट पर बिल्‍लो पूरी नजर रखे हुए जहां से पीएम नरेन्‍द्र मोदी को गुजरना है। बिल्‍लो हर उस संदिग्‍ध्‍ा वस्‍तु की तलाश लेती है जिससे खतरा महसूस हो। जी हां यह बिल्‍लो कोई और नहीं बाॅम्ब डिटेक्शन एंड डिसपोजल स्कवैड (बीडीडीएस) टीम का स्निफर डॉग है। जो 15 जनवरी से बीबीयू में ही है।

मोदी की सुरक्षा

मोदी की सुरक्षा में बीबीएयू के रूट पर सुरक्षा के कड़े प्रबंध

22 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यूपी की राजधानी लखनऊ में आ रहे हैं। मोदी की सुरक्षा के लिए जहां पूरा प्रशासनिक अमला जुटा हुआ है। वहीं, आठ साल की ‘बिल्लो’ उनकी वीआईपी सुरक्षा की जिम्मेदारी निभाने के लिए प्रतिदिन मोदी की सुरक्षा में उस रुट को सूंघकर संदिग्ध वस्तुओं को पहचान कर रही है जहां से उन्‍हें गुजरना है। आप को बता दें बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर केंद्रीय विश्वविद्यालय (बीबीएयू) में कनवोकेशन कार्यक्रम में भाग लेने के लिए मोदी आ रहे हैं। पीएम मोदी की सुरक्षा के लिए सुरक्षा एजेंसियों के साथ बाॅम्ब डिटेक्शन एंड डिसपोजल स्कवैड (बीडीडीएस) टीम भी लगी हुई है। इसी टीम का अहम हिस्सा आठ वर्षीय बिल्लो (स्निफर डाग) भी है। बिल्लो 15 जनवरी से हर रोज बीबीएयू आकर प्रोग्राम वैन्यू अटल बिहारी आडिटोरियम से लेकर प्रधानमंत्री के रूट को सघनता से सूंघकर संदिग्ध वस्तु को तुरंत पहचान रही है।

सुरक्षा की कड़ी ट्रेनिंग दी गई है

बीडीडीएस टीम के अनुसार बिल्लो को पुलिस विभाग ने 15 दिन की उम्र में ही एडाप्ट कर लिया गया था। वह अपना फर्ज बखूब निभा रही है। उसे सुरक्षा करने की कड़ी ट्रेनिंग दी गई है। बिल्लो बम निरोधक दस्ते का भी हिस्सा है जो अलर्ट होने पर संदिग्ध वस्तुओं और बम को सर्च करने के लिए भी मदद करती है।

loading...
शेयर करें