मोदी के शहर में नहीं चला योगी और शाह का जादू, खाली पड़ी रहीं कुर्सियां

0

वाराणसी। हालही में भाजपा की तरफ से ‘युवा उद्धोष कार्यक्रम’ बनारस में आयोजित किया गया था, जिसमें पार्टी के लिए युवाओं की भीड़ को जुटाना काफी मुश्‍किल रहा। जिस कारण राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के स्वागत से पहले कुर्सियों को हटाना पड़ा। क्‍योंकि काफी इंतजार के बाद भी भीड़ नहीं हो सकी थी। जबकि इसे आगामी 2019 के लोकसभा के चुनाव से जोड़ कर तय किया गया था।

सांकेतिक फोटो

एक ऑनलाइन पोर्टल के मुताबिक, काशी विद्यापीठ में आयोजित ‘युवा उद्धोष’ कार्यक्रम में भाजपा के राष्ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह और सीएम योगी बनारस पहुंचे थे। लेकिन तय कार्यक्रम के अनुसार भाजपा यहां पर दावा कर रही थी कि 17000 से अधिक युवाओं का जनसैलाब होगा। लेकिन जमीनी हकीकत देखने के बाद तो यही लग रहा था कि यहां पर हजार तक ही भीड़ थी।

सौजन्‍य अन्‍य पोर्टल

बताया जा रहा है कि युवाओं को इस कार्यक्रम में आने के लिए पार्टी की तरफ से एक लंच पैकेट और और झोले की व्‍यवस्‍था की गई थी। लेकिन इसके बाद भी युवओं की लंभी कतार नहीं दिखी। वन इंडियां के मुताबिक एक डायरी के साथ ही सबका साथ सबका विकास एकात्म मानववाद के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय पर लिखी गई किताब, उत्तर प्रदेश संदेश बुकलेट भी हर कुर्सी पर पहले से रखी गई थी। इसके बावजूद भी युवाओं पर इस रैली का जादू नहीं चला।

loading...
शेयर करें