मोदी- जिनपिंग ने झील किनारे की चाय पर चर्चा, शी को भारत आने का दिया न्यौता

वुहान (चीन)| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच शनिवार को वुहान में दूसरे दौर की वार्ता शुरू हो गई। दोनों नेता ईस्ट लेक पर चहलकदमी करते दिखे। लेक किनारे मोदी और जिनपिंग ने चाय पर चर्चा भी की।  दोपहर के खाने से पहले दोनों नेता नौका की सवारी भी करेंगे।

मोदी ने शुक्रवार को शी जिनपिंग के साथ हुई वार्ता को लाभप्रद और व्यापक बताया था। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच क्षेत्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा हुई। मोदी ने चीन के ट्विटर हैंडल सिना वीबो पर कहा, “मैं वुहान में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मिलकर बहुत खुश हूं। हमने व्यापक और लाभप्रद वार्ता की और दोनों देशों के संबंधों को मजबूत करने के लिए विचार साझा किए।”

इससे पहले शुक्रवार को दोनों नेताओं के बीच सहमति बनी थी कि एक बेहतर विश्व के लिए बेहतरीन द्विपक्षीय संबंध बहुत महत्वपूर्ण है। इस दो दिवसीय सम्मेलन के पहले दिन चीन के वुहान पहुंचे मोदी का शानदार स्वागत किया गया। दोनों नेताओं ने कहा कि वे चाहते हैं कि इस तरह की अनौपचारिक वार्ताएं और हों। मोदी और शी के बीच की इस अनौपचारिक बैठक में न तो कोई बयान साझा किया जाएगा और न ही किसी समझौते पर हस्ताक्षर होंगे। देखने वाली बात ये होगी कि मोदी और शी की ये बैठक कितनी फायदेमंद साबित होती है।

मोदी ने शी जिनपिंग को 2019 में भारत आने का न्यौता भी दिया। मोदी और शी ने कहा कि विश्व में शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए पारस्परिक सौहार्दपूर्ण भारत,चीन संबंध अनिवार्य हैं।

Related Articles