मोबाइल की ट्रिन-ट्रिन नहीं बजेगी क्लास में

देहरादून। सीएम हरीश रावत ने स्कूलों में शिक्षकों के कक्षाओं में मोबाइल ले जाने पर रोक लगाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने शिक्षकों से कहा है कि वे इस बात पर भी नजर रखें कि कोई छात्र-छात्रा तो कक्षा में मोबाइल का उपयोग नहीं कर रहे हैं। मुख्यमंत्री प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाने की हर पहल को तैयार दिखते हैं। यही कारण है कि वे बच्चों, छात्र-छात्राओं या युवाओं के बीच जब पहुंचते हैं तो खुलकर उनसे सवाल तो करते ही हैं, उन्हें जवाब देकर संतुष्ट भी करते हैं।

मोबाइल 2

मोबाइल नहीं आयेगा क्लास में

टिहरी जिले के लक्षमोली में सीएम हरीश रावत ने “सीएम फॉर यूथ” कार्यक्रम के दौरान शिक्षा अधिकारियों को ये निर्देश दिये। इस कार्यक्रम में मौजूद कुछ छात्रों ने ही सीएम रावत ने कहा कि कई शिक्षक कक्षाओं में मोबाइल फोन लेकर आते हैं, जिससे वे पढ़ाई कराने में कम और मोबाइल पर बात करने में ज्यादा समय देते हैं। शिक्षकों के ध्यान न देने से उनकी पढ़ाई पर असर पड़ता है।

मोबाइल 3

बच्चों की बेबाकी से सीएम रावत काफी प्रभावित हुए। उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिये कि शिक्षकों के कक्षाओं में मोबाइल ले जाने पर सख्ती से रोक लगायें। सीएम ने शिक्षा विभाग से इस संबंध में एडवाइजरी भी जारी करने को कहा।

मोबाइल 4

बता दें कि उत्तराखंड के सुदूर क्षेत्रों में शिक्षा व्यवस्था की स्थिति वैसे ही काफी लचर स्थिति में है, उसपर शिक्षक क्लास में मोबाइल लाकर जबतब बात करने लगते हैं। इतना ही नहीं कई शिक्षक तो व्हाट्सएप, गेम्स और अन्य टूल्स की जानकारियां लेने के चलते क्लास में आना भी जरूरी नहीं समझते। जिसका सीधा असर बच्चों पर पड़ता है और वे पढ़ाई में ध्यान कम लगाते हैं और अन्य बातों की तरफ ज्यादा आकर्षित होते हैं। सीएम की इस पहल से उम्मीद है कि  शिक्षा व्यवस्था में कुछ सुधार और आयेगा और छात्र-छात्राओं को फायदा मिलेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button