IPL
IPL

उत्तराखंड में मौसम का मिजाज बदला, कहीं बारिश तो कहीं बर्फबारी

देहरादून। उत्तराखंड में मौसम का मिजाज गुरुवार सुबह से ही बदल गया है। देहरादून में बादलों ने डेरा डाल रखा था तो राज्य के ज्यादातर क्षेत्रों में तड़के से ही बारिश हुई जबकि ऊंचाई वाले पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी हुई। अचानक आए बदलाव से पूरे उत्तराखंड का मौसम बेहद ठंडा हो गया है।

ये भी पढ़ें – शिमला का मौसम : पहाड़ पर दमकती सूरज की किरणें देंगी सुकून के पल

मौसम का मिजाज 2

मौसम का मिजाज बदलने के साथ चेतावनी भी जारी

मौसम का मिजाज बदलने से उत्तराखंड के चमोली जिले के ऊंचाई वाले इलाकों में गुरुवार सुबह से बर्फबारी हो रही है। जिसके चलते मैदानी क्षेत्रों में एक बार फिर शीतलहर का असर होता दिख रहा है। मौसम विभाग ने दो दिन पहले ही आशंका जताई ‌थी कि उत्तराखंड में गुरुवार से अगले 48 घंटों तक मौसम का मिजाज बदला रहेगा और उसकी ये भविष्यवाणी काफी हद तक सही साबित हुई। इसके साथ ही मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों में पांच जिलों में भारी बर्फबारी की चेतावनी भी जारी की है।

मैदानी इलाकों खासकर देहरादून और हरिद्वार में ओले पड़ने के साथ ही तेज हवाएं भी चलने की संभावनाएं हैं। बारिश, बादल और बर्फबारी के चलते तापमान में भी भारी गिरावट आने की संभावना बताई गई है। हालांकि बीते कुछ दिनों से प्रदेश भर का मौसम शुष्क बना हुआ था। दिन में धूप खिलने से गर्मी का अहसास तो हो रहा था, लेकिन शाम होते-होते ठंड बढ़ रही थी। ऊंचाई वाले इलाकों में हो रही बर्फबारी से राजधानी देहरादून समेत पूरे उत्तराखंड में मौसम का मिजाज एकदम से बदल गया है।

ये भी पढ़ें – ST Radar दे देगा मौसम की सटीक जानकारियां !

मौसम का मिजाज 3

 इन जिलों में भारी बर्फबारी की चेतावनी 

मौसम विभाग ने आगामी 48 घंटे उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़ और बागेश्वर में भारी बर्फबारी की चेतावनी जारी की है। इसके अलावा देहरादून और हरिद्वार में अगले 48 घंटे बारिश, ओलावृष्टि और तेज हवाओं की आशंका जताई गई है। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि शुक्रवार को प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में बादल छाये रहेंगे और कुछ जगहों पर हल्की बारिश होगी। वहीं राजधानी दून में भी दिनभर बादल छाए रहने की संभावना जताई है।

मौसम का मिजाज 4

उत्तरकाशी में नहीं हैं पर्याप्त इंतजाम

आपदा के लिहाज से बेहद संवेदनशील उत्तरकाशी में प्रशासनिक मशीनरी ने अभी भी सबक नहीं लिया है। मौसम विज्ञान विभाग की 29 जनवरी से अगले 48 घण्टों तक बारिश और बर्फबारी की चेतावनी के बावजूद उत्तरकाशी जिला प्रशासन के पास कोई प्लान नहीं है। हालत ये है कि डीएम छुट्टी पर हैं और जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देहरादून में एक सरकारी मीटिंग में। उत्तरकाशी में हर्षिल, मुखबा, गंगोत्री, झाला, सुक्खी, जसपुर समेत यमुनाघाटी का खरसाली, यमुनोत्री और मोरी क्षेत्र का ओसला, गंगाड़ आदि ऐसे क्षेत्र हैं जो बर्फबारी होने पर देश-दुनिया से बिल्कुल कट जाते हैं। इन क्षेत्रों में हजारों की जनसंख्या भी निवास करती है। लेकिन, चेतावनी के वावजूद प्रशासन गंभीर नजर नहीं आ रहा। इन क्षेत्रों में आपदा से निपटने के लिए न तो कोई अतरिक्त इंतजाम हैं और न ही प्रशासन की ओर से अलर्ट ही जारी किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button