अखिलेश ने सात विभूतियों को दिया यश भारती सम्मान, 88 को मिला रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार

0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को लोक भवन में सात विभूतियों को यश भारती पुरस्कार से सम्मानित किया। इस वर्ष अब तक 84 लोगों को यश भारती सम्मान दिए जा चुके हैं। वहीं वर्ष 2015-16 में यह आंकड़ा 44 था।  मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में सूबे की लक्ष्मीबाई पुरस्कार विजेताओं को भी सम्मानित किया।

यश भारती

यश भारती से सम्मानित की गई सात विभूतियां 

अखिलेश ने जहां ब्रायन साइल्स, गौरी खन्ना, रिचा जोशी, वासी खान, देवेंद्र कुमार, आनंदेश्वर पांडेय व राम सिंह यादव को यश भारती से सम्मानित किया, वहीं उन्होंने 88 लोगों को रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से नवाजा। इसके साथ ही 315 ग्राम प्रधानों को वीरता अवार्ड से सम्मानित किया।

इस दौरान अपने संबोधन में अखिलेश ने कहा कि यश भारती की शुरुआत नेताजी ने की थी, हम अब भी टैलेंट को ढूंढ रहे हैं। देश की तरक्की बिना आधी आबादी के संभव नहीं है। देश की आधी आबादी उप्र की है।

अखिलेश ने कहा कि समाजवादी लोगों ने बेटियों को लक्ष्मीबाई का सम्मान दिया है। महिलाओं के लिए समाजवादी पेंशन योजना का की शुरुआत की। वहीं शिक्षा के क्षेत्र में सबसे ज्यादा लैपटॉप बांटे हैं, जिसमें सबसे अधिक लड़कियों को दिया है। उन्होंने कहा कि अब आपको तय करना है कि आप काम वाले लोगों का चुनेंगे या जुमले वाले लोगों को, जिन्होंने अच्छे दिनों का वादा किया था। हमें अच्छे दिन नहीं दिख रहे। आपको दिखे तो बताइएगा।

loading...
शेयर करें