यामहा मोटर एनटीटीएफ ट्रेनिंग सेंटर देगा 50 छात्रों को ट्रेनिंग

0

नई दिल्ली। पहले बैच के छात्रों के सफल प्रशिक्षण के बाद यामहा मोटर एनटीटीएफ ट्रेनिंग सेंटर (वाईएनटीसी) ने सोमवार को अकादमिक वर्ष 2018-22 के लिए 50 छात्रों के दूसरे बैच की घोषणा की है। इसका लक्ष्य भारत में विनिर्माण इकाइयों के लिए कुशल श्रमबल तैयार करना है।

संस्थान ने एक बयान में कहा गया कि वाईएनटीसी पहला जापान-भारत इंस्टीट्यूट ऑफ मैनुफैक्चरिंग (जेआईएम) है, जिसकी स्थापना साल 2017 में चेन्नई में की गई। यह जापान और भारत सरकार के साथ ही जापानी कंपनियों की भागीदारी में स्थापित किया गया है।

बयान में बताया गया कि दूसरे बैच के छात्र चार वर्षीय कार्यक्रम में शामिल हैं, जिसमें मैनुफैक्चरिंग टेक्नॉलजी का 2 साल का सर्टिफिकेट कार्यक्रम तथा 2 साल का डिप्लोमा कार्यक्रम है। इसमें जापानी शैली के विनिर्माण का प्रशिक्षण दिया जाएगा, जिसमें मोटरसाइकिल एसेंबली, पार्ट्स कंट्रोल, पेंट, वेल्डिंग, कास्टिंग, मशीनिंग (अलुमिनियम और स्टील दोनों), क्वालिटी कंट्रोल, और यूटिलिटी टेक्नीक्स शामिल है।

आईवाईएम के उप प्रबंध निदेशक रियुजी कावाशीमा ने बताया, “हम धीरे-धीरे एक कुशल कार्यबल बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं जो उद्योग की मांगों को पूरा कर सकता है और भारत सरकार द्वारा शुरू किए गए कौशल भारत मिशन में योगदान देता है।”

loading...
शेयर करें