‘यूपीए सरकार के कार्यकाल में गृह मंत्रालय में जमकर देखी जाती थी पॉर्न फ़िल्में’

नई दिल्ली: केंद्र की पूर्व सत्तारूढ़ यूपीए सरकार के दौरान गृह मंत्रालय में पॉर्न फिल्मों के देखने का दौर चल रहा है। मंत्रालय के अधिकारियों द्वारा जमकर पॉर्न फ़िल्में डाउनलोड की जाती थी और खूब देखी जाती थी। यह बयान पूर्व गृह सचिव रह चुके जीके पिल्लै ने उस वक्त दिया है जब देश की कई सरकारी साइटों के हैक होने की खबर सामने आ रही है।

पूर्व गृह सचिव ने अपने एक बयान में कहा है कि मंत्रालय में कुछ जूनियर कर्मचारी पॉर्न फ़िल्में देखते थे ओर इन्हे डाउनलोड भी करते थे। कर्मचारियों की इस हरकत की वजह से कम्प्यूटरों पर मैलवेयर डाउनलोड हो जाता है और पूरे नेटवर्क की सुरक्षा खतरे में पड़ जाती थी।

डेटा सिक्योरिटी काउंसिल ऑफ इंडिया (DSCI) के अध्यक्ष पिल्लै ने बताया कि जब वो आठ-नौ साल पहले केंद्रीय गृह सचिव थे तो हर दो महीने में हमें कंप्यूटर में गड़बड़ी की शिकायत मिलती थी। मंत्रालय के सीनियर अधिकारी देर शाम तक बैठकों में व्यस्त रहते थे जिसके चलते जूनियर्स को ऑफिस में रुकना पड़ता था। ऐसे में जूनियर इंटरनेट में अश्लील वेबसाइट्स खोलते थे और ऐसी चीजों को डाउनलोड करते हैं जिनके साथ ‘मालवेयर’ (एक तरह का वायरस) भी डाउनलोड हो जाता था। पिल्लै के अनुसार मंत्रालय द्वारा निर्देश जारी करने के बाद समीक्षा में यह बात सामने आई।

पिल्लै उस वक्त गृह सचिव थे जब चिदंबरम यूपीए 2 के कार्यकाल में केंद्रीय गृह मंत्री हुआ करते थे। वह जून 2011 में रिटायर हुए थे।

आपको बता दें कि बीते दिनों रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट को किसी ने हैक कर लिया था। वेबसाइट के होम पेज पर चीनी भाषा का शब्द दिखाई दे रहा है। इसके अलावा वेबसाइट पर कई खामियां भी नजर आ रही थी। हालांकि सरकार ने स्पष्ट किया था कि वेबसाइट्स में कोई दिक्कत नहीं आई थी बल्कि हार्डवेयर की कोई तकनीकी खामी थी जिसे हल कर लिया गया था।

Related Articles