यूपी की डीएम पर राजस्‍थान में मची हलचल, जानिए आखिर हुआ क्‍या है

0

चित्‍तौड़गढ़। राजस्‍थान में देश की सबसे युवा डीएम ने ज्‍वाइनिंग की है। इनका नाम चंद्रकला नीरू है। यह देश के लिए गर्व की बात है कि एक महिला इतनी कम उम्र में डीएम पद पर तैनात हुई है। आजकल यह मैसेज सोशल मीडिया में वायरल हुआ है। इसे पढ़कर अगर आप गर्व महसूस कर रहे हों तो बता दें कि यह पूरी तरह बेबुनियाद है।

चंद्रकला नीरू

चंद्रकला नीरू का सच

सच यह है कि इस नाम की कोई भी डीएम राजस्‍थान में तैनात नहीं हुई है। वायरल मैसेज में बताया गया है कि राजस्‍थान के चित्‍तौड़गढ़ में डीएम चंद्रकला नीरू की तैनाती हुई है। लेकिन खुद चित्‍ताैड़गढ़ के डीएम वेद प्रकाश इसका खण्‍डन किया है। डीएम वेद प्रकाश का कहना है कि उनके पास भी इस तरह के मैसेज आ चुके हैं। उनके पास 4-5 लोगों ने इस बात की पुष्टि के लिए भी फोन किया।

पढ़ें : यूपी की एक और डीएम साहिबा आईं चर्चा में, जानिए क्‍यों…!

इधर, यूपी में सरकार के सीनियर अफसर में इन वायरल मैसेजेस से परेशान हैं, जबकि राज्य सरकार ने ऐसा कोई आदेश ही जारी नहीं किया। दरअसल, किसी ने बुलंदशहर की तेज तर्रार डीएम बी चंद्रकला की फोटो काे थोड़ा सा एडिट करके उन्‍हें चित्‍ताैड़गढ़ की डीएम बताया है। चंद्रकला बी उत्तरप्रदेश कैडर की आईएएस अफसर हैं न किसी राजस्‍थान कैडर की।

चित्तौडग़ढ़ को सबसे युवा जिला कलक्टर (डीएम) मिलने की अफवाह लगभग पूरे राजस्थान में फैल चुकी है। लोग इस बात की पुष्टि के लिए अधिकारियों व मीडियाकर्मियों से तो संपर्क कर ही रहे हैं। जिले में रहने वाले लोग भी एक-दूसरे को मैसेज कर या कॉल कर इस बात के लिए पूछ रहे हैं।

कौन हैं डीएम बी. चंद्रकला 

बी. चंद्रकला का जन्म तेलंगाना के करीमनगर जिले में हुआ था। वह 2008 बैंच की यूपी कैडर की IAS हैं। उन्होंने सेंट्रल स्कूल से 12वीं पास की। ग्रेजुएशन के लिए हैदराबाद के कोटि वुमन्स कॉलेज में एडमिशन लिया। बी. चंद्रकला के आईएएस बनने का सफर संघर्षों से भरा रहा है। शादी के बाद उन्होंने डिस्टेंस एजुकेशन के जरिए अर्थशास्त्र में पोस्ट ग्रेजुएशन किया। इसके बाद यूपीएससी परीक्षा पास करने के लिए कड़ी मेहनत की और इसे पूरा करके दिखाया। वह 10 साल की बेटी की मां हैं और IAS बनने में उनके पति का रोल काफी अहम बताया जाता है।

कब आईं चर्चा में

बुलंदशहर की डीएम बी. चंद्रकला का एक और वीडियो वायरल हो चुका है। इसमें उन्होंने काम में अनियमितता पाए जाने पर अफसरों और नगरपालिका चेयरमैन को जमकर फटकार लगाई। इससे पहले भी जिन जिलों में उनकी पोस्टिंग हुई, वहां भी अपने कामों के लेकर वह हमेशा चर्चा में रहीं। हमीरपुर डीएम रहने के दौरान स्कूली छात्राएं उन्हें ‘डीएम दीदी’ कहकर पुकारती थीं। वहीं, मथुरा में कड़क मिजाज के कारण उनकी पहचान ‘लेडी सिंघम’ के रूप में होने लगी थी।

loading...
शेयर करें