यूपी ने एक ही दिन में 25 करोड़ पौधारोपण का बनाया रेकार्ड, सीएम योगी ने दी बधाई

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के वन विभाग ने आज एक ही दिन में 25 करोड़ पौधारोपण अभियान को सफलतापूर्वक अंजाम दिया। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और वन मंत्री दारा सिंह चैहान ने सभी प्रदेशवासियों को बधाई दी। इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि 1 जुलाई से 7 जुलाई वन महोत्सव मनाया जाता है। हमारी सरकार ने पिछले चार वर्ष में हर बार वन महोत्सव के बीच पौधारोपण का लक्ष्य बढ़ाते हुए इस बार 25 करोड़ पौधारोपण का रेकार्ड बनाया है। योगी ने कहा कि प्रकृति और पर्यावरण के प्रति हम सब की जवाबदेही है।

सीएम योगी ने बताया कि पहले वर्ष 2017 में 5करोड़ से अधिक, दूसरे वर्ष 11 करोड़ से अधिक, तीसरे वर्ष 22 करोड़ से अधिक और इस बार 25 करोड़ से अधिक पौधारोपण एक ही दिन में किया गया है। कोरोना संकट के बीच इतना बड़ा कार्य अपने आप में एक उपलब्धि है। योगी ने कहा यह कार्य टीम वर्क, जज्बा और समर्पण के बिना संभव नहीं था। मुख्यमंत्री ने वन विभाग सहित सभी विभागों, अधिकारियों व कर्मचारियों को बधाई दी।

उत्तर प्रदेश के वन एवं पर्यावरण मंत्री दारा सिंह चौहान ने कहा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मार्ग दर्शन में यह अभूतपूर्व उपलब्धि हासिल हुई है। वन मंत्री ने वन विभाग सहित इस कार्य में लगे 26 अन्य विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों को धन्यवाद दिया। वन मंत्री अभियान सफल होने के बाद शाम 6 बजे अरण्य भवन, मुख्यालय पारिजात सभाकक्ष में प्रेस कान्फ्रेंस की। दारा सिंह चैहान ने कहा, इस वृक्षारोपण कार्यक्रम पर 10 देशों के लोगों ने हिट किया है। उन्होंने इस कार्यक्रम की सफलता के लिये प्रदेश की आम जनता मजदूर, किसान, स्वेच्छिक संगठनों का हृदय से धन्यवाद दिया।

वन मंत्री ने बताया कि पौधारोपण अभियान के दौरान पंचवटी, हरिशंकरी व नक्षत्र वाटिका की स्थापना की गयी। साथ ही 51 प्रजातियों के 251 पौधों का रोपण किया गया। प्रदेश में प्रत्येक जनपद में जन प्रतिनिधियों एवं विशिष्ट जनों की उपस्थिति में वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित हुआ। कोविड 19 संक्रामक महामारी से बचाव के लिए जरूरी प्रोटोकाल का भी पालन किया गया।

हर गांव में सहजन का एक पौधा रोपित

वन मंत्री ने कहा कि औषधीय पौधों, फलों एवं सहजन जैसे वृक्षों के उत्पाद हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं। साथ ही पोशक तत्वों की पूर्ति कर हमें कोविड-19 जैसे रोगों से लड़ने में सक्षम बनाते हैं। महिलाओं व बच्चों में कुपोषण की समस्या देखते हुए ‘वृक्षारोपण मिशन 2020‘ में प्रदेश के हर गांव में सहजन का एक पौधा रोपित किया गया।

पौधशालाओं एवं वृक्षारोपण में पौधों को पोषक तत्व देने के लिए जीवामृत का निर्माण पौधशालाओं में किया जा रहा है। मंत्री ने कहा कि मानव जीवन के स्वास्थ्य, आजीविका, प्रतिरोधक क्षमता एवं जीवन बनाए व बचाए रखने में जैव विविधता की महत्वपूर्ण भूमिका है। इस बात को समझते हुए पूरा विश्व जीवन के विविध रूपों को बनाए व बचाए रखने के लिए प्रयासरत है। प्रेस वार्ता के दौरान अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग सुधीर गर्ग, प्रधान मुख्य वन संरक्षक और विभागाध्यक्ष डा राजीव कुमार गर्ग भी उपस्थित रहे।

Related Articles